Home हिंदी कब के बिछड़े आज कहां आ के मिले…

कब के बिछड़े आज कहां आ के मिले…

चंद्रपुर ब्यूरो: आज सोशल मीडिया हर किसी कि जिंदगी का अहम हिस्सा बन गया है. लगभग हर व्यक्ति सोशल मीडिया के हर प्लेटफॉर्म पर अपनी उपस्थिति दर्ज करा रहा है. दूसरी ओर इसके दुष्परिणामों की चिंता भी उपयोगकर्ताओं को सताती है लेकिन सोशल मीडिया का इस्तेमाल सही ढंग से किया जाए तो ये हमारे लिए फायदेमंद साबित हो सकता है. इसका ताजा उदाहरण चंद्रपुर में देखने को मिला. लगभग 18 वर्ष के बाद एक बेटा अपनों से मिल गया है. दूसरी तरफ 2 महिलाएं 4 महीनों बाद अपने घर लौटी हैं.
बल्लारपुर निवासी जेकब फ्रांसीस जब 8 साल का था तो पिता के डांटने से गुस्से में आकर घर से चला गया था. उसे तलाशने का काफी प्रयास किया गया लेकिन कोई सुराग नहीं मिला. अब जेकब ने सोशल मीडिया पर अपनी प्रोफाइल में रीयल नेम लिखा तो उसका पता चल सका और वह अपनों से मिल सका.

रिटायर्ड ऑफिसर ने किया पालनपोषण

जेकब वर्ष 2002 में घर से निकला था, जिसे हिमाचल प्रदेश के रूडकी में एक रिटायर्ड ऑफिसर ने उसे अनाथ समझकर शरण दी और उसका पालनपोषण किया. कुछ दिन पूर्व जेकब ने सोशल मीडिया पर अपनी इंफॉर्मेशन डाली, जिससे उसके वर्धा के रिश्तेदारों ने उसके बल्लारपुर में रह रहे भाई को जानकारी दी और बल्लारपुर पुलिस की मदद से उसको तलाश किया गया. हालांकि जिस पिता की डांट से वह घर से भागा था उनसे उसकी दोबारा मुलाकात नहीं हो सकी क्योंकि वो अब इस दुनिया में नहीं रहे. लेकिन उसके वापस मिल जाने से उसके अन्य रिश्तेदारों की खुशी का कोई ठिकाना नहीं रहा.

4 महीने बाद अपनों से मिलीं बिछड़ी महिलाएं

अन्य मामलों में राजुरा तहसील की चुनाला निवासी एक महिला और भद्रावती निवासी एक महिला पिछले 4 महीने से लापता थीं. रिश्तेदारों ने पुलिस थानों में गुम होने की जानकारी दी थी. 4 महीने बाद 26 अक्तूबर को दोनों को ब्रम्हपुरी से खोज उनके परिजनों को सौंपा गया. दोनों के परिवार बहुत खुश है.


रीडर्स आप आत्मनिर्भर खबर डॉट कॉम को ट्वीटर, इंस्टाग्राम और फेसबुक पर फॉलो कर रहे हैं ना? …. अबतक ज्वाइन नहीं किया है तो अभी क्लीक कीजिये (ट्वीटर- @aatmnirbharkha1), (इंस्टाग्राम- @aatmnirbharkhabar2020), (फेसबुक- @aatmnirbharkhabar2020और पाते रहिये हमारे अपडेट्स.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here