Home हिंदी महिला विश्व : हेल्दी और फिट रहने जरूर खाने चाहिए ये फूड्स

महिला विश्व : हेल्दी और फिट रहने जरूर खाने चाहिए ये फूड्स

628
0

महिलाओं की पोषण की आवश्यकता उम्र के साथ बदलती है. इसी लिए महिलाओ को अपने डायट पर ज्यादा ध्यान देने की जरुरत होती है. यहां कुछ सुपरफूड्स के बारे में एक्सपर्ट के सुझाए दिए जा रहे हैं कि महिलाओं को अपनी डाइट में किन चीजों को शामिल करना चाहिए.

एक महिला के जीवन के विभिन्न चरणों में, पोषण और उचित आहार अच्छे स्वास्थ्य के आधार हैं. यौवन से गर्भावस्था और रजोनिवृत्ति तक, एक महिला को इन विभिन्न चरणों में अद्वितीय पोषण संबंधी जरूरतें होती हैं. इसमें उम्र और पोषण की आवश्यकता के अनुसार पर्याप्त विटामिन और खनिज जोड़ना शामिल है.

अनुसंधान ने साबित किया है कि कई सुपरफूड्स जो अगर एक महिला की प्लेट में एक नियमित आहार के भाग के रूप में शामिल हैं, तो ब्रेस्ट कैंसर, डिम्बग्रंथि के कैंसर, योनि में संक्रमण, गर्भावस्था से संबंधित समस्याओं, पीएमएस से संबंधित समस्याओं और कई और अधिक जैसे कैंसर से बचा सकते हैं. कुपोषण का मुकाबला करने के लिए, कुछ आवश्यक विटामिन और खनिज एक महिला के जीवन में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं.

1. दही (Curd)
दही अपने उच्च कैल्शियम सामग्री के कारण महिलाओं के लिए महत्वपूर्ण खाद्य पदार्थों में से एक है. पुरुषों की तुलना में महिलाओं को अधिक कैल्शियम की जरूरत होती है. अगर आहार में कैल्शियम की कमी है, तो शरीर सामान्य सेल फ़ंक्शन को सुनिश्चित करने के लिए हड्डियों से कैल्शियम लेता है जो कमजोर हड्डियों या ऑस्टियोपोरोसिस का कारण बन सकता है. चूंकि महिलाओं को ऑस्टियोपोरोसिस विकसित होने का अधिक खतरा होता है, इसलिए आहार में भरपूर मात्रा में कैल्शियम प्राप्त करना महत्वपूर्ण होता है.

2. अंडा (Egg)
अंडा विटामिन बी 12 और फोलेट का एक अच्छा स्रोत है. महिलाओं के स्वास्थ्य के लिए ये दोनों आवश्यक हैं. विटामिन बी 12 एनीमिया के जोखिम को कम करता है जो महिलाओं में सबसे अधिक प्रचलित है. फोलेट गर्भावस्था के दौरान न्यूरोलॉजिकल जन्म दोषों के जोखिम को कम करते हैं, महिलाओं में हृदय रोग और कुछ प्रकार के कैंसर के जोखिम को कम करते हैं. अंडा चोलीन के सबसे अच्छे स्रोतों में से एक है. अध्ययनों से पता चला है कि चोलिन के अधिक सेवन वाली महिलाओं में स्तन कैंसर होने की संभावना 24% कम थी. इसके साथ ही अंडे में कैल्शियम, विटामिन डी और विटामिन ए होता है.

3. पालक (Spinach)
पालक आयरन, फोलेट और विटामिन से भरा है। महिलाओं में एनीमिया सबसे आम समस्या है. हीमोग्लोबिन रक्त में ऑक्सीजन ले जाता है, जो आयरन से बना होता है. मासिक धर्म के दौरान या गर्भावस्था और स्तनपान के दौरान खून की कमी के कारण, महिलाओं के लिए आवश्यकता बढ़ जाती है. इसमें उच्च विटामिन ए और फाइबर सामग्री होती है जो कई प्रकार के कैंसर को दूर करने में मदद करती है, जिसमें बृहदान्त्र और फेफड़े का कैंसर शामिल है. पालक में मौजूद एंटीऑक्सीडेंट कोलेजन उत्पादन में मदद करते हैं जो त्वचा के स्वास्थ्य को बढ़ावा देने में भी मदद करता है.

4. अमरूद (Guava)
महिला के अच्छे स्वास्थ्य के लिए अमरूद महत्वपूर्ण है क्योंकि इसमें उच्च विटामिन सी सामग्री है. विटामिन सी आयरन के अवशोषण में मदद करता है और महिलाओं में एनीमिया को रोकने में मदद करता है. इसके लाइकोपीन और एंटीऑक्सीडेंट त्वचा के स्वास्थ्य के लिए अच्छे हैं. अमरूद में कैल्शियम भी होता है जो महिलाओं में ऑस्टियोपोरोसिस को रोकता है.

5. अलसी (Flax)
फ्लैक्ससीड्स ओमेगा 3 फैटी एसिड का एक महत्वपूर्ण स्रोत हैं, जो मस्तिष्क और आंखों के विकास के लिए आवश्यक हैं. महिलाओं के लिए, ओमेगा 3 फैटी एसिड प्रीमेंस्ट्रुअल सिंड्रोम या पीएमएस के लक्षणों को कम करता है. ओमेगा 3 त्वचा और बालों के लिए भी अच्छा है.

6. सोयाबीन (Soybean)
सोयाबीन आयरन, फोलेट, कैल्शियम और मैग्नीशियम का एक बड़ा स्रोत है. मध्यम मात्रा में सोया (Soybean) खाने से महिलाओं में स्तन कैंसर का खतरा कम होता है. हाई ब्लड प्रेशर से जुड़ी बीमारियों के लिए भी सोयाबनी खाना अच्छा रहता है. सोयाबीन को रोजाना खाने से हाई ब्लड प्रेशर की समस्या को कंट्रोल किया जा सकता है. डाइट में सोयाबीन शामिल करने से महिलाओं में हड्डियों के कमजोर होने की ओस्टियोपोरोसिस जैसे खतरे से बचाव किया जा सकता है. सोयाबीन में लेसीथिन पाया जाता है जो लीवर के लिए फायदेमंद है.

#आत्मनिर्भर खबर डॉट कॉम हेल्थ डेस्क


रीडर्स आप आत्मनिर्भर खबर डॉट कॉम को ट्वीटर, इंस्टाग्राम और फेसबुक पर फॉलो कर रहे हैं ना? …. अबतक ज्वाइन नहीं किया है तो अभी क्लीक कीजिये (ट्वीटर- @aatmnirbharkha1), (इंस्टाग्राम- @aatmnirbharkhabar2020), (फेसबुक- @aatmnirbharkhabar2020और पाते रहिये हमारे अपडेट्स.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here