Home हिंदी Maha Metro | सीताबर्डी इंटरचेंज से आटोमोटीव चौक के बिच निर्माणकार्य पकड़...

Maha Metro | सीताबर्डी इंटरचेंज से आटोमोटीव चौक के बिच निर्माणकार्य पकड़ रहा रफ़्तार

  • कस्तुरचंद पार्क मेट्रो स्टेशन तक ट्रॅक बिछाने का कार्य पूर्ण
  • रिच – 2: व्हायाडक्ट 80 % और स्टेशन का 62.5 % कार्य पूर्ण

    नागपुर ब्यूरो : महा मेट्रो के सीताबर्डी इंटरचेंज से आटोमोटीव चौक रिच-2 कॉरीडोर का कार्य तेज गती से शुरु है और अभी तक (80% वायाडक्ट और 62.5 % स्टेशन) का कार्य पूर्ण कर लिया गया है. साथ ही इस मार्ग पर सीताबर्डी इंटरचेंज से कस्तुरचंद पार्क मेट्रो स्टेशन तक ट्रॅक बिछाने का कार्य पूर्ण कर इंदोरा चौक से नारी रोड दरम्यान ट्रॅक बिछाने का कार्य शुरु किया गया है.

उल्लेखनीय है कि, रिच – 2 कामठी महामार्गपर मेट्रो रेल वायाडक्ट और स्टेशन के निर्माण कार्य के साथ ही डबल डेकर उडाणपूल का कार्य तेज गती से शुरू है. गड्डीगोदाम क्रॉसिंग की संरचना मे 4 स्तरीय परिवहन व्यवस्था है. पहले स्तर पर जमिनी मार्ग (विद्यमान आरयुबी मार्ग) आवागमन के लिए, दूसरे स्तर पर रेलवे ट्रॅक, निर्माण कार्य पूर्ण होते ही तीसरे और चौथे स्तर पर उड्डानपूल और मेट्रो मार्ग रहेगा. वर्तमान यातायात व्यवस्था को देखते हुए 4 स्तरीय निर्माण कार्य समय की मांग है. इस मार्ग पर बडे पैमाने मे कॉलेज, व्यापारी संकुल, बँक, सरकारी कार्यालय सडक के दोनो ओर है तथा यह मार्ग उत्तर और दक्षिण नागपुर को जोड़ने वाला प्रमुख मार्ग है. इस मार्ग पर रिजर्व बँक ऑफ इंडिया, कस्तुरचंद पार्क, सीताबर्डी किला ऐसी प्रमुख और ऐतिहासिक धरोहर है.

7 मेट्रो स्टेशन प्रस्तावित

सीताबर्डी इंटरचेंज से आटोमोटीव चौक (कामठी रोड) तक के 7.23 किमी के मार्गापर कुल 7 मेट्रो स्टेशन प्रस्तावित है, जिनमे जीरो माईल, कस्तुरचंद पार्क, गद्दीगोदाम चौक, कडबी चौक, इंदोरा चौक, नारी रोड एवं आटोमोटीव्ह चौक मेट्रो स्टेशन का समावेश है.

विशेषताएं

• प्रस्तावित उड्डानपूल और मेट्रो ट्रॅक जिसे ‘राईट ऑफ वे’ कहा जाता है. याने 2 संरचना के निर्माण कार्य एक सिंगल पिलर पर होगा जिससे कम लागत और सडक कि जगह का कम उपयोग होगा.

• उड्डानपूल संरचना एलआयसी चौक से शुरू होकर आटोमोटीव्ह चौक तक कामठी रोड ऐसे व्यस्त मार्ग पर है.

• 4 स्तरीय यातायात प्रणाली इस प्रकार है:

1.) कामठी रोड, 2.) नागपुर-भोपाल रेल्वे लाईन, 3.) उड्डानपूल, 4.) मेट्रो वायाडक्ट

• मेट्रो वायाडक्ट की सबसे अधिक ऊंचाई गड्डी गोदाम स्थित गुरुद्वारा के समीप रहेगी जिस मार्ग पर रेल मार्ग है

• उड्डनपुल की सबसे अधिक ऊंचाई सडक से 14.9 मी. रहेगी.

• मेट्रो वायाडक्ट की सर्वाधिक ऊंचाई सडक से 24.8 मी. रहेगी.

• तीसरे माले पर उड्डानपूल चार पदरी यातायात के लिए रहेंगा जिसकी चौडाई 7.50 मीटर प्रत्येकी रहेगी.

• रिच -2 मार्ग के 5.3 कि.मी.(आटोमोटीव्ह चौक से गड्डीगोदाम) का भाग डबल डेकर उड्डानपूल का है. तीसरे स्तर पर उड्डानपूल चार लेन यातायात के लिए होगा और इसकी लंबाई 7.50 मीटर होगी. तकनीकी दृष्टि से 1400 मेट्रिक टन वजन के स्टील कंपोझीट ट्रस गर्डर रेलवे ट्रॅक के उपर योग्य लौचिंग पद्धति से रखे जाएगे. स्टील कंपोझीट ट्रस गर्डर का वजन 1400 मेट्रिक टन है. 80 मी. स्पॅन रहेगा. आरओबी की संरचना मे पाईल फाउंडेशन, पियर्स और पोर्टल बीम व सुपर स्ट्रक्चर स्टील कंपोझीट 80 मी. स्पॅन ट्रस गर्डर का रहेगा. आरओबी (RoB) की उंचाई सडक से 25 मी. रहेगी


रीडर्स आप आत्मनिर्भर खबर डॉट कॉम को ट्वीटर, इंस्टाग्राम और फेसबुक पर फॉलो कर रहे हैं ना? …. अबतक ज्वाइन नहीं किया है तो अभी क्लीक कीजिये (ट्वीटर- @aatmnirbharkha1), (इंस्टाग्राम- @aatmnirbharkhabar2020), (फेसबुक- @aatmnirbharkhabar2020) और पाते रहिये हमारे अपडेट्स.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here