Home हिंदी पिंजरे में फंस ही गया दहशत मचा रहा विरूर क्षेत्र का बाघ

पिंजरे में फंस ही गया दहशत मचा रहा विरूर क्षेत्र का बाघ

971

चंद्रपुर ब्यूरो : जिले की राजुरा तहसील के राजुरा और विरुर वनपरिक्षेत्र में किसान और खेतिहर मजदूरों को अपना शिकार बनाकर ग्रामीणों में दहशत फैला रहा बाघ आखिरकार मंगलवार (27 अक्तूबर) को वनविभाग के पिंजरे में फंस ही गया. यहां बता दे कि पिछले 9 महीनों से वनविभाग की टीमें इस बाघ को पकड़ने की कोशिश कर रही थी. इसकी दहशत की वजह से स्थानीय ग्रामीणों में बहुत ज्यादा रोष पनपने लगा था. अब सभी ने इसके पकड़े जाने पर राहत की सास ली है.

जानकारी अनुसार, वनविभाग ने ग्रामीणों के गुस्से को देखते हुए बेहद गोपनीय तरीके से इस मुहिम को अंजाम दिया है. बाघ के पकड़े जाने की बात चंद्रपुर वनवृत्त के मुख्य वनसंरक्षक प्रवीण कुमार ने भी मानी है. सनद रहे कि इस मामले में किसान और ग्रामीणों ने वनविभाग के कार्यालयों के सामने आंदोलन भी किए है. ऐसे में दहशत की निशानी बन चुका यह बाघ पकड़ा जाने से लोगों ने राहत की सांस ली है. हालांकि वनविभाग की मुश्किलें अभी कम नहीं हुई है. क्योंकि जानकारी मिल रही है कि विभाग अब इस बाघ को बेहोश कर अन्यत्र ले जाने के बारे में योजना बना रहा है. बता दे कि इस बाघ ने अबतक 10 से ज्यादा लोगों पर हमला कर उन्हें अपना शिकार बनाया है.


रीडर्स आप आत्मनिर्भर खबर डॉट कॉम को ट्वीटर, इंस्टाग्राम और फेसबुक पर फॉलो कर रहे हैं ना? …. अबतक ज्वाइन नहीं किया है तो अभी क्लीक कीजिये (ट्वीटर- @aatmnirbharkha1), (इंस्टाग्राम- @aatmnirbharkhabar2020), (फेसबुक- @aatmnirbharkhabar2020और पाते रहिये हमारे अपडेट्स.