Home Health Covid-19 | क्या लग गया है देश में कोरोना की रफ्तार पर...

Covid-19 | क्या लग गया है देश में कोरोना की रफ्तार पर ब्रेक, क्या कहते हैं आंकड़े?

735

भारत में हालांकि अब भी कोरोना वायरस संक्रमितों की संख्या दिखाई दे रही है लेकिन एक्टिव मामलो को देखकर ऐसा माना जाने लगा है की देश में कोरोना की रफ्तार पर ब्रेक लग गया है. यह संख्या पिछले कुछ दिनों में सबसे कम संख्या होने का भी दवा किया जा रहा है. अगर ये बात सही है तो भारतीयों के लिए ये अच्छी खबर कही जा सकती ही. आइये जानते है क्या कहते हैं कोरोना के ताजा आंकड़े?

संक्रमण के 22,842 नए मामले सामने आने से संक्रमण के कुल मामलों की संख्या 3,38,13,903 पर पहुंच गयी है, जबकि एक्टिव मरीजों की संख्या कम होकर 2,70,557 रह गयी है. ये 199 दिनों में सबसे कम आंकड़ा है. केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के रविवार सुबह जारी किए गए आंकड़ों के मुताबिक 244 मरीजों के और जान गंवाने से मृतकों की संख्या 4,48,817 पर पहुंच गयी है. आंकड़ों के मुताबिक एक्टिव मरीजों की संख्या संक्रमण के कुल मामलों का 0.80 प्रतिशत है, जो मार्च 2020 के बाद से सबसे कम है. वहीं कोविड-19 से ठीक होने की राष्ट्रीय दर 97.87 प्रतिशत है, जो मार्च 2020 के बाद से सबसे ज्यादा है.

पिछले 24 घंटे में कोविड-19 के एक्टिव मरीजों की संख्या में 3,332 की कमी दर्ज की गयी है. मंत्रालय ने बताया कि शनिवार को कोविड-19 के लिए 14,29,258 सैंपल्स की जांच की गयी और इसी के साथ अब तक कुल 57,19,94,990 सैंपल्स की जांच हो चुकी है. डेली पॉजिटिविटी रेट 1.80 प्रतिशत है. यह पिछले 34 दिनों से तीन प्रतिशत से कम बना हुआ है. वीकली पॉजिटिविटी रेट 1.66 प्रतिशत दर्ज किया गया है, जो पिछले 100 दिनों से तीन प्रतिशत से कम है.

डेथ रेट 1.33 प्रतिशत

स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक इस बीमारी से ठीक होने वाले लोगों की संख्या बढ़कर 3,30,94,529 हो गयी है, जबकि डेथ रेट 1.33 प्रतिशत दर्ज किया गया है. देश में चल रहे कोविड-19 वैक्सीनेशन अभियान के तहत अभी तक कोरोना से मुकाबले के लिए वैक्सीन की 90.15 करोड़ से ज्यादा डोज दी जा चुकी हैं. देश में पिछले साल सात अगस्त को संक्रमितों की संख्या 20 लाख, 23 अगस्त को 30 लाख और पांच सितंबर को 40 लाख से अधिक हो गई थी. वहीं संक्रमण के कुल मामले 16 सितंबर को 50 लाख, 28 सितंबर को 60 लाख, 11 अक्टूबर को 70 लाख, 29 अक्टूबर को 80 लाख और 20 नवंबर को 90 लाख के पार चले गए थे. देश में 19 दिसंबर को ये मामले एक करोड़ के पार, इस साल चार मई को दो करोड़ के पार और 23 जून को तीन करोड़ के पार चले गए थे.

केरल में फिर सबसे ज्यादा मौतें

आंकड़ों के अनुसार, देश में जिन 244 और लोगों ने जान गंवाई है, उनमें से 121 की मौत केरल में और 49 मरीजों की मौत महाराष्ट्र में हुई है. इस महामारी से अब तक 4,48,817 लोगों की मौत हो चुकी है. सबसे ज्यादा 1,39,166 मरीजों की मौत महाराष्ट्र में, 37,811 की कर्नाटक, 35,627 की तमिलनाडु, 25,303 की केरल, 25,088 की दिल्ली, 22,894 की उत्तर प्रदेश और 18,815 मरीजों की मौत पश्चिम बंगाल में हुई है. स्वास्थ्य मंत्रालय ने बताया कि अभी तक जिन लोगों की संक्रमण से मौत हुई है, उनमें से 70 प्रतिशत से ज्यादा मरीजों को अन्य बीमारियां भी थीं. मंत्रालय ने अपनी वेबसाइट पर बताया कि उसके आंकड़ों का भारतीय आयुर्विज्ञान अनुसंधान परिषद (ICMR) के आंकड़ों के साथ मिलान किया जा रहा है.

Previous articleBig News । क्रूझवरील रेव्ह पार्टी प्रकरणी : शाहरुख खानचा मुलगा आर्यन एनसीबीच्या ताब्यात
Next articleभवानीपुर उपचुनाव | ममता दीदी ने बीजेपी की प्रियंका टिबरेवाल को 58 हजार वोटों से हराया
वाचकांनो आपन “आत्मनिर्भर खबर डॉट कॉम” ला ट्वीटर, इंस्टाग्राम आणि फेसबुक पर फॉलो करत आहात ना? अजूनपर्यंत ज्वाइन केले नसेल तर आमच्या अपडेट्स साठी आत्ताच क्लिक करा (ट्वीटर- @aatmnirbharkha1), (इंस्टाग्राम- @aatmnirbharkhabar2020), (यू ट्यूब-@aatmnirbhar khabar )(फेसबुक- @aatmnirbharkhabar2020).