Home हिंदी महिला के खाते में अचानक आ गए पूरे 7417 करोड़ रुपए, जानिए...

महिला के खाते में अचानक आ गए पूरे 7417 करोड़ रुपए, जानिए फिर क्या हुआ

नई दिल्ली ब्यूरो : अगर आपके खाते में एक दम से हजारों करोड़ रु आ जाएं तो आपको कैसा लगेगा? जाहिर सी बात है आपको झटका लग सकता है। खुशी तो होगी, मगर साथ में ये टेंशन भी जरूर होगी कि आखिर इतना पैसा आया कहां से। एक ऐसी ही घटना सामने आयी है अमेरिका में, जहां एक वृद्ध महिला के खाते में अचानक से 1-2 करोड़ रु नहीं बल्कि पूरे 7417 करोड़ रु आ गए। इतनी रकम अपने बैंक खाते में देख कर ये महिला हक्की-बक्की रह गयी। आइए जानते हैं पूरी घटना के बारे में।

बैलेंस चेक करने पर उड़े होश

फ्लोरिडा की एक महिला उस समय चौंक गई जब उसने अपना बैंक बैलेंस चेक किया और पाया कि उसके खाते में 1 अरब डॉलर यानी लगभग 7417 करोड़ रु हैं। पीपुल मैगज़ीन की रिपोर्ट के अनुसार फ्लोरिडा के लार्गो की रहने वाली जूलिया योंकोव्स्की बीते शनिवार को अपने स्थानीय चेज़ बैंक के एटीएम से 20 डॉलर निकालने गई थी। जब उन्होंने पैसे निकालने की कोशिश की, तो एटीएम ने उन्हें अलर्ट किया कि इससे ओवरड्राफ्ट हो जाएगा।

डर गयीं थीं जूलिया

जूलिया के अनुसार जब उन्होंने 20 डॉलर निकालने के लिए अनुरोध किया तो उन्हें ओवरड्राफ्ट हो जाने का अलर्ट मिला, जिसे उन्होंने अनदेखा करके पैसा निकालने की कोशिश जारी रखी। इसके बाद उन्होंने अपने खाते का बैलेंस चेक करने का फैसला किया। बैंक रसीद के अनुसार उनके खाते में 999,985,855.94 डॉलर थे। इतना बैलेंस देख कर वे डर गयीं।

क्या आया मन में विचार

जूलिया के अनुसार ज्यादातर लोग सोचेंगे कि उन्होंने लॉटरी जीती है, लेकिन वे डर गई थी। उन्होंने कहा कि मैंने उन लोगों के बारे में खबरें पढ़ी हैं जिन्होंने इस तरह से मिले पैसे लिए या पैसे निकाले और फिर उन्हें इसे वापस चुकाना पड़ा। उन्होंने ये पैसा न निकालने का फैसला किया, क्योंकि ये उनका था ही नहीं।

क्या थी इतने बैलेंस की हकीकत

जूलिया के खाते में 1 अरब डॉलर के रहस्य का मामला मंगलवार को तब साफ हुआ जब चेज़ बैंक के एक प्रतिनिधि ने समझाया कि जूलिया के खाते की इतना बैलेंस वास्तव में निगेटिव था। यानी ये निगेटिव बैलेंस था। बैंक प्रतिनिधि ने कहा कि वास्तव में उनका बैलेंस निगेटिव एक अरब डॉलर था और इस नंबर का उपयोग धोखाधड़ी रोकने के तरीके के रूप में किया जाता है।

क्यों आई खाते में दिक्कत

बैंक प्रतिनिधि के मुताबिक इस तरह का बैलेंस तब दिखता है जब किसी व्यक्ति का खाता संदिग्ध गतिविधि के कारण बंद कर दिया गया है। यही वजह है जूलिया अपने खाते से 20 डॉलर नहीं निकाल सकीं। चेस बैंक ने कहा कि संयुक्त बैंक खाते पर रोक से बचने के लिए लोगों को इस तरह की स्थिति में उचित दस्तावेज पेश करने की आवश्यकता होती है। चेस बैंक के प्रतिनिधि के अनुसार उनके दिवंगत पति बैंक खाते के जॉइंट ओनर थे और जब जूलिया ने इस खाते का उपयोग करने की कोशिश की तो एक अलर्ट दिखा दिया गया। इधर जूलिया उम्मीद कर रही हैं कि उनकी कहानी उन लोगों के लिए एक सबक होगी जो ऐसी ही परिस्थिति में हों।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here