Home हिंदी नार्थ पोल से होकर बेंगलूरु पहुंची भारत की ये जांबाज बेटियां

नार्थ पोल से होकर बेंगलूरु पहुंची भारत की ये जांबाज बेटियां

दुनिया के सबसे लंबे हवाई मार्ग पर उड़ान भर बनाया रिकॉर्ड

नई दिल्ली ब्यूरो : एयर इंडिया की महिला पायलटों ने इतिहास रच दिया है. इन महिला पायलट ने अमेरिका के सैन फ्रांसिसको से 16 हजार किलोमीटर की दूरी तय कर बेंगलूरु में बोइंग 777 विमान का सफलतापूर्वक उतारा है. खास बात ये कि दुनिया में पहली बार किसी महिला पायलट टीम ने उत्तरी ध्रुव से होते हुए इतनी लंबी दूरी की उड़ान तय की है.

 

ये विमान तड़के करीब चार बजे बेंगलूरु में उतरा. इस महिला पायलट्स की टीम का नेतृत्व कैप्टन जोया अग्रवाल कर रही थीं, इनके साथ कैप्टन पापागीरी थानमई, कैप्टन अकांक्षा और कैप्टन शिवानी भी विमान को उड़ा रही थीं. एयर इंडिया ने इसे गर्व का क्षण करार दिया है.

कैप्टन जोया अग्रवाल ने कहा, ”आज हमने न केवल उत्तरी ध्रुव पर उड़ान भरकर, सभी महिला पायलटों ने ऐसा करके विश्व इतिहास का बनाया है. हम इसका हिस्सा बनकर बेहद खुश हैं और गर्व महसूस कर रहे हैं। इस मार्ग से 10 टन ईंधन की बचत हुई है.”

केंद्रीय नागरिक उड्डयन मंत्री, हरदीप सिंह पुरी ने ट्वीट किया, ‘‘कॉकपिट में पेशेवर, योग्य और आत्मविश्वासी महिला चालक सदस्यों ने एअर इंडिया के विमान से सैन फ्रांसिस्को से बेंगलुरु के लिए उड़ान भरी है और वे उत्तरी ध्रुव से गुजरेंगी. हमारी नारी शक्ति ने एक ऐतिहासिक उपलब्धि हासिल की है.’’

एयर इंडिया ने ट्वीट किया, ‘‘इसकी कल्पना कीजिए: -सभी महिला कॉकपिट सदस्य- भारत आने वाली सबसे लंबी उड़ान- उत्तरी ध्रुव से गुजरना और यह सब हो रहा है! रिकॉर्ड टूट गए. एआई-176 द्वारा इतिहास रचा गया. एआई-176, तीस हजार फुट की ऊंचाई पर उड़ान भर रहा है.’

जानकारी के मुताबिक उड़ान संख्या एआई-176 शनिवार को सैन फ्रांसिस्को से रात 8.30 बजे (स्थानीय समयानुसार) रवाना हुई और यह सोमवार तड़के 3.45 बजे यहां पहुंची. इस उड़ान के साथ देश की महिला शक्ति ने एक बार फिर साबित कर दिया कि ऐसा कोई काम नहीं है जिसे भारत की बेटियां ना कर पाएं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here