Home हिंदी ‘चीता’ से अपनी ताकत बढ़ाएगी भारतीय सेना

‘चीता’ से अपनी ताकत बढ़ाएगी भारतीय सेना

नई दिल्ली: चीन के साथ सीमा विवाद के बीच भारतीय सेना अपनी ताकत बढ़ाने में जुटी है। सेना ने इजराइली ड्रोन हेरोन यूएवी को और ताकतवर बनाने के प्रोजेक्ट को आगे बढ़ा दिया। सेना हेरोन को लेजर-गाइडेड बम, प्रेशिसन-गाइडेड म्यूनिशन और दुश्मनों के ठिकानों और बख्तरबंद रेजीमेंट के लिए एंटी टैंक मिसाइल लैस करने की तैयारी में है। लंबे समय से पेंडिंग प्रोजेक्ट चीता नाम के प्रस्ताव को भारतीय सेना ने फिर से आगे बढ़ाया है। इसमें सरकार के करीब 3500 करोड़ रुपए खर्च होने की उम्मीद है।
90 हेरोन ड्रोन को करेंगे अपग्रेड
सरकारी सूत्रों के हवाले से ‘आत्मनिर्भर खबर डॉट कॉम’ को यह विश्वसनीय जानकारी मिली है कि इस प्रोजेक्ट में तीनों सेनाओं के 90 हेरोन ड्रोन को लेजर-गाइडेड बम और मिसाइलों के साथ अपग्रेड किया जाएगा। मामले पर डिफेंस सेक्रेटरी अजय कुमार समेत हाई-लेवल डिफेंस मिनिस्ट्री बॉडी विचार कर रही है।मददगार साबित होंगे
इस प्रपोजल के मुताबिक, सशस्त्र बलों ने ड्रोन से दुश्मनों के ठिकानों पर नजर रखने की बात कही है। भारत के मीडियम एल्टीट्यूड लॉन्ग इंड्यूरेंस ड्रोन को अनमैन्ड एरियल व्हीकल कहा जाता है। इनमें हेरोन भी शामिल है। जिन्हें सेना और वायुसेना ने चीनी सीमा से लगे हुए लद्दाख सेक्टर की फॉरवर्ड लोकेशन पर तैनात किया है। ये फैसला सेना के लिए मददगार साबित होगा.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here