Home Defence बहू को भी सेना में भेजूंगी; खिलौने का प्लेन लेकर कहता था-...

बहू को भी सेना में भेजूंगी; खिलौने का प्लेन लेकर कहता था- पायलट बनूंगा

523

तमिलनाडु के कुन्नूर में बुधवार को हेलिकॉप्टर क्रैश में शहीद हुए झुंझुनूं के स्क्वॉड्रन लीडर कुलदीप सिंह की मां कमला देवी की आंखें नम हैं, लेकिन उन आंखों में बेटे के लिए गर्व भी है। कुलदीप की मां ने कहा कि मेरा बेटा शहीद हो गया। मेरे बेटे की यही कमाई है। देश की सेवा करते हुए बेटा शहीद हुआ है। अब बहू को भी सेना में भेजूंगी।

शहीद कुलदीप राव के चाचा के बेटे और खुद भी एक्स नेवी पर्सन राजेंद्र राव ने बताया कि बचपन से ही कुलदीप पायलट बनना चाहता था। खिलौने का हवाई जहाज हाथ में लेकर घूमता था। कहता था कि एक दिन मैं पायलट जरूर बनूंगा। राजेन्द्र ने बताया कि 7 महीने पहले कुलदीप परिवार में चाचा के लड़के की शादी में अपने गांव घरडाना खुर्द आए थे। अपने स्कूल भी गए थे। वहां बच्चों से मिलकर उन्हें सेना में जाने के लिए प्रेरित किया।

बेटे के शहीद होने की सूचना मिलने के बाद माता-पिता जयपुर से झुंझुनूं के घरडाना खुर्द गांव पहुंच चुके हैं। वहीं, परिवार के अन्य सदस्य दिल्ली के लिए रवाना हुए हैं। जो देर शाम तक पार्थिव देह के साथ गांव पहुंचेंगे। इसके बाद शुक्रवार को शहीद का अंतिम संस्कार किया जाएगा।

गांव के पूर्व सरपंच हरपाल सिंह ने बताया कि पूरे गांव को कुलदीप पर गर्व है। पूरा गांव उन्हें अंतिम विदाई देने की तैयारी में लगा हुआ है। गांव के लाडले को पूरे सम्मान के साथ अंतिम विदाई दी जाएगी।

Previous articleशादी समारोह में दुल्हन और गेस्ट के वैक्सीनेशन सर्टिफिकेट चेक किए गए, वैक्सीन भी दी गई
Next articleOmicron । मुंबईत 221 कोरोनाबाधितांपैकी ओमायक्रॉनचे केवळ दोन रुग्ण, जनुकीय चाचणीचे निष्कर्ष जाहीर
वाचकांनो आपन “आत्मनिर्भर खबर डॉट कॉम” ला ट्वीटर, इंस्टाग्राम आणि फेसबुक पर फॉलो करत आहात ना? अजूनपर्यंत ज्वाइन केले नसेल तर आमच्या अपडेट्स साठी आत्ताच क्लिक करा (ट्वीटर- @aatmnirbharkha1), (इंस्टाग्राम- @aatmnirbharkhabar2020), (यू ट्यूब-@aatmnirbhar khabar )(फेसबुक- @aatmnirbharkhabar2020).