Home International केंद्रीय अल्पसंख्यक कार्य मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने हज 2022 की घोषणा...

केंद्रीय अल्पसंख्यक कार्य मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने हज 2022 की घोषणा की

523
  • हज 2022 के लिए ऑनलाइन आवेदन प्रक्रिया 1 नवंबर से शुरू; अंतिम तिथि 31 जनवरी 2022
  • भारतीय हज यात्री ‘वोकल फॉर लोकल’ का मंत्र अपनाएंगे, उन्हें भारत में यात्रा के शुरुआती बिन्दुओं पर स्वदेशी चीजें प्रदान की जाएंगी
  • हज यात्रियों की चयन प्रक्रिया पूर्ण कोविड-19 टीकाकरण के आधार पर होगी
  • सभी हज यात्रियों को डिजिटल हेल्थ कार्ड “ई-मसीहा” दिया जाएगा: केंद्रीय मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी
नई दिल्ली ब्यूरो : हज 2022 के लिए ऑनलाइन आवेदन प्रक्रिया आज, एक नवंबर, 2021 से शुरू हो गई है। केंद्रीय अल्पसंख्यक कार्य मंत्री श्री मुख्तार अब्बास नकवी ने आज मुंबई के हज हाउस में इसकी घोषणा की। मंत्री महोदय ने कहा कि हज 2022 का आयोजन महत्वपूर्ण सुधारों और बेहतर सुविधाओं के साथ किया जा रहा है।

हज यात्रा की घोषणा करते हुए, मंत्री महोदय ने कहा, “पूरी हज प्रक्रिया शत-प्रतिशत ऑनलाइन होगी। लोग ऑनलाइन और आधुनिक सुविधाओं से लैस ‘हज मोबाइल ऐप’ के जरिए भी आवेदन कर सकते हैं। हज 2022 के लिए आवेदन करने की अंतिम तिथि 31 जनवरी, 2022 है। ऐप को ‘हज ऐप इन योर हैंड’ टैगलाइन के साथ अपग्रेड किया गया है, इसमें कई नई विशेषताएं शामिल हैं जिनमें अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न, आवेदन पत्र भरने की जानकारी और आवेदकों को बहुत ही सरल तरीके से फॉर्म भरने की जानकारी देने वाले वीडियो शामिल हैं।

लोकल फॉर वोकल

मंत्री महोदय ने कहा कि इस बार भारतीय हज यात्री स्वदेशी उत्पादों के साथ हज पर जाएंगे और “वोकल फॉर लोकल” को बढ़ावा देंगे। पहले हज यात्री सऊदी अरब में विदेशी मुद्रा में चादर, तकिए, तौलिया, छाता और अन्य सामान खरीदते थे। इस बार, इनमें से अधिकांश स्वदेशी सामान भारत में भारतीय मुद्रा में खरीदा जाएगा। जहां ये सामान भारत में सऊदी अरब की तुलना में लगभग 50 प्रतिशत कम कीमतों पर उपलब्ध होगा, वहीं यह “स्वदेशी” और “वोकल फॉर लोकल” को भी प्रोत्साहित करेगा। ये सभी सामान हज यात्रियों को भारत में उनके संबंधित यात्रा के शुरुआती बिंदुओं पर दिए जाएंगे।

श्री नकवी ने कहा कि दशकों से हज यात्री सऊदी अरब में इन सभी वस्तुओं को विदेशी मुद्रा में खरीदते थे। दिलचस्प बात यह है कि इनमें से अधिकांश वस्तुएं “मेड इन इंडिया” थीं, जिन्हें विभिन्न कंपनियां भारत से खरीदती थीं और सऊदी अरब में हज यात्रियों को दोगुनी या तिगुनी कीमत पर बेचती थीं। श्री नकवी ने कहा कि एक अनुमान के अनुसार इस व्यवस्था से भारतीय हज यात्रियों को करोड़ों रुपये की बचत होगी। भारत से हर साल दो लाख यात्री हज पर जाते हैं।

पूर्ण कोविड-19 टीकाकरण के आधार पर चयन

श्री नकवी ने कहा कि हज 2022 के दौरान कोविड-19 प्रोटोकॉल को ध्यान में रखते हुए, हज यात्रियों की चयन प्रक्रिया भारत तथा सऊदी अरब की सरकारों द्वारा तय किए जाने वाले दिशा-निर्देश एवं मानदंड के हिसाब से दोनों खुराकों के साथ पूर्ण टीकाकरण के आधार पर की जाएगी।

श्री नकवी ने कहा कि अल्पसंख्यक कार्य मंत्रालय, स्वास्थ्य मंत्रालय, विदेश मंत्रालय, नागरिक उड्डयन मंत्रालय, भारत की हज समिति, सऊदी अरब में भारतीय दूतावास और जेद्दा में भारत के महावाणिज्य दूत और अन्य एजेंसियों के बीच महामारी की चुनौतियों के सभी पहलुओं को ध्यान में रखते हुए विचार-विमर्श के बाद हज 2022 की पूरी प्रक्रिया तैयार की गई है।

हज 2022 के लिए यात्रा के 10 शुरुआती बिंदु (इम्बार्केशन प्वाइंट)

श्री नकवी ने कहा कि हज 2022 के लिए यात्रा के शुरुआती बिंदु 21 से घटाकर 10 कर दिए गए हैं। हज 2022 के लिए 10 शरुआती बिंदु दिल्ली, मुंबई, कोलकाता, अहमदाबाद, हैदराबाद, बेंगलुरु, लखनऊ, कोचीन, गुवाहाटी और श्रीनगर हैं।

1. दिल्ली के शुरुआती बिंदु के दायरे में दिल्ली, पंजाब, हरियाणा, हिमाचल प्रदेश, चंडीगढ़, उत्तराखंड, राजस्थान, उत्तर प्रदेश के पश्चिमी जिले आएंगे।

2. मुंबई के शुरुआती बिंदु के दायरे में महाराष्ट्र, गोवा, मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़, दमन और दीव, दादरा और नगर हवेली आएंगे।

3. कोलकाता के दायरे में पश्चिम बंगाल, ओडिशा, त्रिपुरा, झारखंड और बिहार आएंगे।

4. अहमदाबाद के दायरे में पूरा गुजरात आएगा।

5. बेंगलुरु के शुरुआती बिंदु के दायरे में पूरा कर्नाटक और आंध्र प्रदेश का चित्तूर जिला आएगा।

6. हैदराबाद के दायरे में आंध्र प्रदेश और तेलंगाना आएंगे।

7. लखनऊ के दायरे में उत्तर प्रदेश के पश्चिमी भागों को छोड़कर बाकी सभी हिस्से आएंगे।

8. कोचीन के दायरे में केरल, लक्षद्वीप, पुडुचेरी, तमिलनाडु तथा अंडमान और निकोबार आएंगे

9. गुवाहाटी के दायरे में असम, मेघालय, मणिपुर, अरुणाचल प्रदेश, सिक्किम और नागालैंड आएंगे।

10. श्रीनगर के शुरुआती बिंदु के दायरे में जम्मू-कश्मीर, लेह-लद्दाख-कारगिल आएंगे।

 

सभी तीर्थयात्रियों के लिए ई-मसीहा

श्री नकवी ने कहा कि सभी हज यात्रियों को डिजिटल हेल्थ कार्ड “ई-मसीहा” स्वास्थ्य सुविधा और मक्का-मदीना में ठहरने/परिवहन के संबंध में सभी जानकारी उपलब्ध कराने के लिए “ई-लगेज प्री-टैगिंग” प्रदान की जाएगी।

श्री नकवी ने कहा कि 3,000 से अधिक महिलाओं ने हज 2020 और 2021 के लिए बिना “मेहरम” (पुरुष साथी) श्रेणी के तहत आवेदन किया था। यदि वे हज 2022 करने के लिए जाना चाहें तो उनके आवेदन हज 2022 के लिए भी पात्र होंगे। अन्य महिलाएं भी बिना “मेहरम” श्रेणी के तहत हज 2022 के लिए आवेदन कर सकती हैं। बिना “मेहरम” श्रेणी के अंतर्गत आने वाली सभी महिलाओं को लॉटरी प्रणाली से छूट दी जाएगी।

मुंबई में सऊदी अरब के उप महावाणिज्य दूत महामहिम मोहम्मद अब्दुल करीम अल-एनाजी, केंद्रीय अल्पसंख्यक कार्य मंत्रालय की संयुक्त सचिव श्रीमती निगार फातिमा, हज कमेटी ऑफ इंडिया के सीईओ (मुख्य कार्यकारी अधिकारी) मोहम्मद याकूब शेख और अन्य वरिष्ठ अधिकारी इस अवसर पर उपस्थित थे।

हज मोबाइल ऐप यहां से डाउनलोड किया जा सकता है:

https://play.google.com/store/apps/details?id=com.hajapp.hcoi

सऊदी अरब सरकार द्वारा प्रदान की जाने वाली हज संबंधी सेवाओं के बारे जानकारी को यहां प्राप्त किया जा सकता है:

https://www.haj.gov.sa/en/InternalPages/Details/10234

 

Previous article#Maha_Metro | दुबई एक्सपो में डॉ. दीक्षित ने मेट्रो नियो और नागपुर मेट्रो एमएमआई का किया प्रदर्शन
Next article#nagpur । नागपूर जिल्ह्याच्या पर्यटनाला चालना देण्यासाठी व्यापक धोरण करा, डॉ. नितीन राऊत यांचे निर्देश
वाचकांनो आपन “आत्मनिर्भर खबर डॉट कॉम” ला ट्वीटर, इंस्टाग्राम आणि फेसबुक पर फॉलो करत आहात ना? अजूनपर्यंत ज्वाइन केले नसेल तर आमच्या अपडेट्स साठी आत्ताच क्लिक करा (ट्वीटर- @aatmnirbharkha1), (इंस्टाग्राम- @aatmnirbharkhabar2020), (यू ट्यूब-@aatmnirbhar khabar )(फेसबुक- @aatmnirbharkhabar2020).