Home Education Admission | 12वीं साइंस के बाद क्या करे? स्टूडेंट्स सहित पैरेंट्स को...

Admission | 12वीं साइंस के बाद क्या करे? स्टूडेंट्स सहित पैरेंट्स को उलझन में डालने वाला सवाल

हम आपको बताएंगे उन कोर्सेस के बारे में जो आप 12वीं साइंस के बाद कर सकते हैं

नई दिल्ली ब्यूरो: कक्षा 12वीं के बाद स्टूडेंट्स के शैक्षणिक जीवन में महत्वपूर्ण टर्निंग पॉइंट आता है, जहां स्टूडेंट्स ही नहीं बल्कि पैरेंट्स को भी उलझन में डालने वाला एक अहम सवाल पैदा होता है कि 12वीं खासकर 12वीं साइंस के बाद क्या करे? इसी उलझन को दूर करने के लिए आत्मनिर्भर खबर डॉट कॉम आपको बताने जा रहा है, उन कोर्सेस के बारे में जो आप 12वीं साइंस के बाद कर सकते हैं. यहां आपको कोर्सेस के बारे में विस्तृत जानकारी मिलेगी. इन सवालों के जवाब भी आपको यहां मिल जायेंगे.

  • Engineering Course after 12th Science
  • B.sc course after 12th science
  • B.Arch course after 12th
  • BCA course after 12th
  • Pilot After 12th science
  • 12th ke baad army kaise join kare
  • B.Ed. course after 12th science
  • Diploma course after 12th science
  • B.Pharmacy after 12th science
  • 12th biology ke baad kya kare
  • MBBS course after 12th science
  • BAMS course after 12th science
  • BHMS course after 12th
  • BDS course after 12th science
  • BUMS course after 12th
  • B.SC. NURSING after 12th
  • Physiotherapy course after 12th
  • 12th ke baad B.sc. kaise kare
  • Diploma course biology student
  • Teaching course in science biology
  • Bachelor of Veterinary Science
  • B.pharmacy course after 12th bio
  • Bio math group course
  • B.B.A Course After 12th
  • Event management course after 12th science
  • journalism and mass communication course

साइंस को तरजीह देने की यह है वजह 

साइंस संकाय (Science Stream) में स्टूडेंट्स ज्यादा आकर्षित होते हैं क्यूंकि इसमें  सबसे ज्यादा कोर्स है. इसके अलावा समाज में भी जो साइंस लेता है. उसको होशियार समझा जाता है. इसलिए बहुत से पैरेंट्स की यह इच्छा होती है की उनका बेटा-बेटी 12वीं साइंस (12th Science) से पास कर के डॉक्टर व इंजिनीरिंग बने. इसीलिए अधिकांश स्टूडेंट्स 12वीं के बाद B.TECH, MBBS, BDS जैसे कोर्स को ही लेना पसंद करते हैं और मुश्किल प्रतियोगिता परीक्षा (high competition exam) के चक्कर में फंस जाते हैं. लेकिन इनके अलावा भी बहुत से कोर्स हैं, जिनमें आसान प्रतियोगिता (low competition) से गुजरकर एडमिशन लिया जा सकता है और भविष्य में अच्छी नौकरी मिलने के अवसर बढ़ जाते हैं. कोर्स (course) की तरफ बढ़ने से पहले हम जानते हैं कि 12वीं साइंस में स्टूडेंट्स PCM व PCB में से कोई एक कोर्स लेते है और बहुत कम स्टूडेंट्स दोनों यानी PCMB ग्रुप लेते हैं.

  • PCM (Physics,chemistry,maths)
  • PCB (Physics,chemistry,biology
  • PCMB (Physics, chemistry, maths, biology)

12वीं मैथ्स के बाद क्या करें?

12वीं गणित (Maths) के बाद बहुत से कोर्स (course) हैं, जिनमें से आप अपनी क्षमता के अनुसार चयन कर सकते हो. कुछ खास कोर्स की बात करे तो स्टूडेंट्स B.tech, B.Arch आदि की तरफ ही जाते हैं लेकिन उसके आलावा भी बहुत से अच्छे कोर्स हैं, जिनके जरिये आप अपना करियर बना सकते हैं.

12th PCM Course list:

Engineering Course after 12th Science

अगर अपने 12th pass कर ली है. तो आप B.tech (bachelor of technology) की तरफ जा सकते हो. इनकी अवधी 4 साल होती है. इसके बाद अगर आप चाहे तो आप master की तरफ जा सकते है, जिसकी duration 2 साल की होती है. इंजीनियरिंग (engineering) की विभिन्न शाखाएं (branch) हैं.

  • Computer Science Engineering
  • Mechanical Engineering
  • Civil Engineering
  • Electrical Engineering
  • Chemical Engineering
  • Metallurgy Engineering
  • Textile Engineering
  • Environmental Engineering
  • Marine Engineering
  • Genetic Engineering
  • Plastics Engineering
  • IT Engineering
  • IC Engineering
  • EC Engineering
  • Electronics Engineering
  • Electronics and Telecommunication Engineering
  • Petroleum Engineering
  • Aeronautical Engineering
  • Aerospace Engineering
  • Automobile Engineering
  • Food Processing and Technology
  • Agricultural Information Technology
  • Agricultural Engineering
  • Dairy Technology and Engineering
  • Mining Engineering
  • Power Engineering
  • Production Engineering
  • Infrastructure Engineering
  • Motorsport Engineering
  • Biotechnology Engineering
  • Fire Engineering

Admission:

12वीं साइंस के बाद इंजीनियरिंग करने के लिए आपको प्रवेश परीक्षा (entrance exam) की तैयारी करनी होती है, जो नेशनल लेवल का एंट्रेंस एग्जाम होता है. कुछ engineering exam स्टेट लेवल के भी होते हैं. इन एग्जाम के मेरिट लिस्ट के आधार पर ही स्टूडेंट्स को सरकारी कॉलेजों में एडमिशन दिया जाता है. कुछ खास इंजीनियरिंग कॉलेज जैसे IIT, NIT, BITS, College of Engineering and Technology ETC. इसके आलावा भारत में बहुत सारे प्राइवेट कॉलेज भी है जो B.tech व M.tech करवाते हैं.

Fees:

सरकारी इंजीनियरिंग कॉलेज की फीस बहुत ही कम होती है जबकि प्राइवेट कॉलेज की फीस लगभग 60 हज़ार से 1.5 लाख एक सेमेस्टर की फीस होती है.


B.sc course after 12th science

अगर आप engineering नहीं करना चाहते हैं तो 12वीं साइंस के बाद B.sc. course भी एक अच्छा ऑप्शन है. B.sc. का duration 3 साल होता है. आप इसके बाद PG (Post graduation)– M.sc. भी कर सकते हैं जो लगभग 2 साल का होता है. M.sc. के बाद अगर आप और पढ़ना चाहते हो तो Phd का रास्ता भी खुला रहता है.

  • B.Sc. Physics
  • B.Sc. Chemistry
  • B.Sc. Mathematics
  • B.Sc. IT
  • B.Sc. Computer Science
  • B.Sc. Electronics and Communication
  • B.Sc. Biotechnology
  • B.Sc. Agriculture
  • B.Sc. Horticulture
  • B.Sc. Forestry
  • B.Sc. dairy technology
  • B.Sc. Hotel Management
  • B.Sc. Nautical Science
  • B.Sc. Aviation
  • B.Sc. Animation and Multimedia

Admission:

अगर कोई भी छात्र B.sc. course करना चाहता है. तो उसके लिए सरकारी कॉलेज बेस्ट रहता है और इन कॉलेज में एडमिशन मेरिट लिस्ट पर होता है. बहुत सारे private college में भी B.sc. उपलब्ध होता है. इसके आलावा बहुत सारी university द्वारा Admission के लिए entrance exam लिया जाता है. अगर आपके 12वीं में किसी कारण अच्छे परसेंटेज नहीं भी आये हो तो भी entrance क्लियर करके आप Admission ले सकते हो. कुछ खास entrance exam जैसे BHU, ICAR, AMUEE etc.

Fees:

वैसे B.sc. की फीस दूसरे courses से बहुत कम होती है. सरकारी कॉलेज की फीस पूरे साल की लगभग 5 से 10 हजार रुपए होती है जबकि private college में प्रति वर्ष 30 से 70 हजार रुपए फीस ली जाती है.


B.Arch course after 12th

B.Arch यानी की Bachelor of Architecture इस कोर्स में आपको घर का निर्माण, बिल्डिंग का निर्माण, संरचना के बारे में सिखाया जाता है. यह कोर्स करीब 5 साल का होता है. इस कोर्स के बाद आप कोई भी construction & building sector में नौकरी कर सकते हो.

Admission:

यह कोर्स भारत में बहुत से इंजीनियरिंग कॉलेज में उपलब्ध है और बहुत सारे अच्छे कॉलेज में एडमिशन merit list पर ही होता है. इसके आलावा इस कोर्स को करने के लिए बहुत से entrance exam है, जिनकी सहायता से कोई भी विद्यार्थी एग्जाम क्लियर करके अपना मनपसंद कॉलेज चुन सकता है. कुछ खास entrance exam जैसे कि NATA, AAT, JEE, स्टेट लेवल एग्जाम व कुछ कॉलेज लेवल एग्जाम की सहायता से आप अच्छे सरकारी कॉलेज से B.Arch कर सकते हैं.

Fees:

अगर आपको सरकारी कॉलेज मिलता है तो आपकी फीस बहुत ही कम लगती है. लेकिन Private college पूरे course की fees लगभग 2 से 6 लाख रुपए लेते हैं.


BCA course after 12th

अगर आपको computer subject में रूचि है तो BCA (bachelor of computer application) एक अच्छा ऑप्शन हो सकता है. यह कोर्स लगभग 3 साल का होता है. इस कोर्स में computer के software, application, language, programming आदि के बारे में सिखने को मिलता है. इस course के बाद आप इसमें 2 साल का PG MCA (master of computer application) भी कर सकते हो. इसमें अगर Job की बात करे तो आप private व government sector में job कर सकते हो. बहुत सी private IT company है जो BCA वालों को job पर रखती है.

Admission:

भारत में बहुत सारे सरकारी व प्राइवेट कॉलेज है जो BCA करवाते हैं, जिसमें  admission आपके 12th के अच्छे मार्क्स के आधार पर मिल जाता है.

Fees:

कॉलेज की फीस इंस्टिट्यूट के हिसाब से अलग-अलग होती है. सरकारी कॉलेज की फीस कम होती है व प्राइवेट कॉलेज में 30 हजार से 1.5 लाख रुपए तक एक साल की फीस होती है.


Pilot After 12th science

अगर आप Maths student हैं तो आप पायलट भी बन सकते हैं. commercial pilot बनने के लिए आपको 12वीं के बाद (12th ke baad) Flight Training school join करना होता है. इस कोर्स का duration लगभग 2 से 3 साल का होता है. जब इस course की training समाप्त हो जाती है. तब आप private airlines कंपनी में commercial pilot की जॉब कर सकते हो.

Admission:

यह course करने के लिए सबसे पहले आपको एक test (Pilot aptitude test) देना होता है. इस test को clear करके ही आप admission ले सकते हैं.

Fees:

पायलट कोर्स भारत में बहुत महंगा होता है, जो पूरी pilot training fees होती है. लगभग 40 से 60 लाख पूरे कोर्स की लग जाती है.


12वीं के बाद Army कैसे ज्वाइन करे?

12वीं के बाद Army ज्वाइन करना भी एक अच्छा ऑप्शन है लेकिन यहां आयु सीमा (age limit) होती है. आपको NDA exam देना होता है. अगर आप इस एग्जाम को क्लियर कर देते हैं तो इसके बाद आपको एक SSB interview भी देना होता है. इस interview को क्लियर करने के बाद आपको NDA, Pune में admission मिल जाता है. इसके बाद आपको वहां B.sc. course के साथ military training भी करनी पड़ती है. 3 साल के बाद जब आपका NDA कोर्स खत्म हो जाता है फिर 1 साल के लिए IMA (Indian Military Academy) फिर आपको officer के रूप में Indian Armed Force में job मिल जाती है.


B.Ed. course after 12th science

बहुत सारे स्टूडेंट का सपना टीचर बनना होता है ताकि वो यूथ को एक सही डायरेक्शन व कैरियर दिखा सके. B.Ed. यानी Bachelor of Education एक teachers training course होता है. वैसे इस course को ग्रेजुएशन के बाद ही किया जाता है लेकिन ऐसे बहुत से teaching course हैं, जिनमें graduation के साथ-साथ आपकी teaching training भी चलती रहती है. इसकी वजह से यह पूरा course 4 साल का हो जाता है.

Admission:

स्टूडेंट्स को 12th पास करने के बाद Common Entrance Test (CEE) देना होता है. जब छात्र इस entrance test को clear कर देता है तो merit list के आधार पर B.Ed के लिए college मिल जाता है.

Fees:

सरकारी B.Ed कॉलेज की फीस बहुत ही कम होती है लेकिन प्राइवेट कॉलेज की 30 से 60 हजार रुपए प्रति वर्ष फीस होती है.


Diploma course after 12th science

अगर आप आगे 12th के बाद इतना नहीं पढ़ना चाहते हैं तो 12th diploma course भी एक अच्छा ऑप्शन है. यह डिप्लोमा कोर्स लगभग 2 साल का होता है. इसके बाद आप नौकरी के लिए आवेदन कर सकते हैं. जो maths student है यदि वे engineering नहीं करना चाहते हैं तो diploma course उनके लिए एक अच्छा ऑप्शन है.

  • Diploma in Chemical Engineering
  • Diploma in Mechanical Engineering
  • Diploma in Computer Science Engineering
  • Diploma in Civil Engineering
  • Diploma in EC Engineering
  • Diploma in IC Engineering
  • Diploma in Metallurgy

अगर आप engineering field में डिप्लोमा नहीं करना चाहते हैं तो इसके अलावा भी बहुत से अच्छे diploma course हैं जहां आपको नौकरियां जल्दी मिल जाएंगी.

  • Diploma in Biotechnology
  • Diploma in Interior Designing
  • Diploma in Jewellery Designing
  • Diploma in Print Media Journalism
  • Diploma in Event Management
  • Diploma in Animation and Multimedia
  • Diploma in Fashion Designing

Admission:

diploma engineering course polytechnic colleges द्वारा ही करवाये जाते हैं. यदि आपको इस course के लिए आवेदन करना है तो आपको पॉलीटेक्निक कॉलेज में एडमिशन लेना होगा.

Fees:

polytechic government college में फीस बहुत ही कम होती है जबकि private polytechnic college में 30 से 60 हजार रुपए प्रति वर्ष फीस होती है.


B.Pharmacy after 12th science

आपको यह जान कर थोड़ा अजीब लगेगा की maths student भी phramacy कर सकते हैं जो कि एक जीव विज्ञान से संबंधित फील्ड है. अगर आप maths student हो और biology में आगे बढ़ना चाहते हैं तो B.Pharmacy एक अच्छा ऑप्शन हो सकता है. pharmacy के अंदर आपको medicine कैसे बनती है, medicine बनाने के लिए कौनसे chemical की जरुरत होती है और किस मेडिसिन से शरीर में क्या क्रियाये होती हैं और कब मेडिसिन को लेना चाहिए इसके बारे में आपको इस कोर्स में सिखया जाता है. यदि आपको chemistry में रूचि है तो यह course आपके लिए अच्छा है. यह कोर्स लगभग 4 साल का होता है. इसके बाद आप आगे M.Pharma भी कर सकते हो जो लगभग 2 साल का होता है. ऐसी बहुत सी Pharmaceutical companies है जो job देती है. इसके अलावा आप hospital में chemist के तौर पर भी काम कर सकते हो और अच्छा experience होने के बाद खुद का मेडिकल स्टोर भी खोल सकते हो.

Admission:

बहुत से अच्छे pharmacy college है. जो merit list पर ही admission देते हैं. government college में admission के लिए बहुत से entrance exam (state व national level) देने होते हैं, जिसे आप पास करके अच्छे कॉलेज में दाखिला ले सकते हैं.

Fees:

सरकारी कॉलेज की फीस बहुत ही कम लगती है जबकि private college की फीस 50 हजार से 1 लाख रुपए  प्रति वर्ष लगटी है.


12वीं Biology के बाद क्या करें?

बहुत से छात्र 10th के बाद mathematics लेने के आलावा वे बायोलॉजी लेना पसंद करते हैं क्यूंकि PCB पढ़ने में आसान होती है और बहुत से छात्रों का medical field में काम करने का सपना होता है. यदि आपकी भी 12th में biology थी और आप जानना चाहते हैं खास biology field जिसमें आप अपना कैरियर बना कर अपना भविष्य सुरक्षित कर सके.

MBBS course after 12th science

कोई छात्र science biology से आता है तो उसकी पहली इच्छा doctor बनने की होती है क्यूंकि यह एक respectful कैरियर होता है. MBBS कोर्स 5½ साल का होता है, जिसमें 4½ साल academic व 1 साल की internship होती है. इसके आलावा इस कोर्स में admission लेना इतना आसान नहीं है. government व private college में एक seat मिलना भी एक कठिन टास्क हो जाता है. लेकिन अगर आप मेहनत से अच्छी तैयारी करते हो तो admission लेना आसान हो जाता है. इसके बाद आप PG भी कर सकते हो जिससे आपका कैरियर और निखर जाता है. MBBS के बाद job में आप private व government sector में काम कर सकते हो या अपना खुद का clinic खोलना भी एक अच्छा ऑप्शन है.

Admission:

Government medical college में admission entrance exam (NEET) के merit list पर होता है. इसके अलावा आप private college में भी आवेदन कर सकते हो.

Fees:

MBBS की फीस government colleges में 5 से 10 हजार रुपए प्रति वर्ष जबकि private college की fees लगभग 10 से 15 लाख प्रति वर्ष लगती है. इसलिए private college में MBBS करना बहुत ज्यादा ही महंगा पड़ जाता है.


BAMS course after 12th science

MBBS के मुकाबले BAMS की पढ़ाई आसान पड़ती है. BAMS यानि Bachelor of Ayurvedic Medicine and Surgery. यदि आपको Ayurveda Doctor बनना है तो यह कोर्स आपके लिए बेस्ट है. यह कोर्स भी 5½ साल लंबा है जिसमें 4½ साल आपको Academic शिक्षा दी जाएगी और इसके बाद एक साल की Internship. आज के समय में आयुर्वेद भी प्रचलन में आ रहा है. लोग एलोपैथिक की तरफ ना जाकर आयुर्वेद की तरफ जा रहे है. क्यूंकि इसका इलाज बहुत सस्ता पड़ता है और इन दवाइयों के कोई भी साइड इफ़ेक्ट नहीं है. आयुर्वेदिक बीमारियों को जड़ से ख़त्म करने की दावा करती है. यह कोर्स भी आपके भविष्य व Job Opportunity के लिए सुनहरा है. आप Private व Government सेक्टर में काम कर सकते हैं. या आप खुद का Clinic खोलकर भी Ayurveda practice कर सकते हैं.

Admission:

BAMS college में Admission merit list पर होता है. इसके लिए आपको वो ही entrance exam देना होता है.

Fees:

Government से ही BAMS करना एक अच्छा ऑप्शन हो सकता है. क्यूंकि यहां fees बहुत ही कम लगती है. इसके अलावा government sector में job के चांस बढ़ जाते हैं. आप इस कोर्स को private भी कर सकते हैं. जहां आपकी सालाना फीस 1 से 1.5 लाख तक लग जाती है.


BHMS course after 12th

BHMS यानी Bachelor of Homeopathic Medicine and Surgery. इस कोर्स में homeopathic medicine आदि के बारे में पढ़ाया जाता है. यह course भी लगभग 5½ साल का होता है. इसमें 4½ साल academic व 1 साल का internship होती है. बहुत से लोग है भारत में जो homeopathic इलाज व दवाइयों का इस्तेमाल करते हैं. इसलिए यह कोर्स भी demand में आ जाता है. आप भी इस course के बाद private व government सेक्टर में काम कर सकते हैं.

Admission:

प्रतिष्ठित कॉलेज में admission merit list के आधार पर ही होता है. उसके आलावा आप private college में भी आवेदन कर सकते हो.

Fees:

अगर हो सके तो admission government college में ही ले ताकि आपको एक अच्छा एजुकेशन मिल सके वो भी कम फीस में जबकि private college में फीस लगभग 50 हजार से 1 लाख सालाना है.


BDS course after 12th science

BDS यानी Bachelor of Dental Surgery यह कोर्स का duration लगभग 5 साल है, जिसमें 4 साल का academic program व 1 साल का internship होती है. MBBS के मुकाबले यह कोर्स इतना अच्छा नहीं है क्यूंकि स्टूडेंट्स BDS course की जगह MBBS कोर्स करना अधिक पसंद करते हैं. इसलिए BDS सीट मिलना आसान हो जाता है. लेकिन इसका मतलब यह नहीं कि MBBS के मुकाबले इसका यह कोर्स बेकार है. भारत में बहुत से लोगों को दांतों की समस्या है और यह समस्या एक डेंटिस्ट ही दूर कर सकता है. अगर आप इस कोर्स के बाद PG कर लेते हो तो डिग्री की वैल्यू बढ़ जाती है. इस कोर्स से आप private व government sector में काम कर सकते हो या भविष्य में खुद का clinic खोलना भी एक अच्छा ऑप्शन है.

Admission:

अच्छे सरकारी मेडिकल कॉलेज में एडमिशन मेरिट लिस्ट पर होता है. अगर आपने entrance clear कर दिया है. या फिर आप प्राइवेट कॉलेज में भी आवेदन कर सकते हो.

Fees:

सरकारी कॉलेज की फीस बहुत ही कम लगती है. BDS कोर्स के लिए अगर आप प्राइवेट से करते हो तो आपके एक साल की 3-7 लाख के करीब लग जाती है.


BUMS course after 12th

BUMS यानी Bachelor of Unani Medicine and Surgery. यह कोर्स भी एक अच्छा ऑप्शन है. यदि आपको MBBS, BAMS आदि में सीट नहीं मिली तो यह कोर्स आप कर सकते है. यह भी एक डॉक्टरी कोर्स होता है, जो लगभग 5½ साल लंबा होता है, जिसमें 4½ साल की पढ़ाई व 1 साल का प्रैक्टिकल सिखाया जाता है.

Admission:

BUMS में admission के लिए आपको entrance exam (neet) देना होता है व merit list पर ही आपको government college में admission मिलता है. इसके अलावा private college में भी आप एडमिशन ले सकते हो.

Fees:

सरकारी कॉलेज में fees बहुत ही कम होती है 5-10 हज़ार सालाना होती है.


B.SC. NURSING after 12th

यदि आप डॉक्टर (NEET) का एंट्रेंस एग्जाम क्लियर नहीं कर पाते तो Nurse बनना भी एक बेहतर ऑप्शन है. आज के समय में medical field में अच्छे nurse की बहुत जरुरत है. डॉक्टर हर मरीज का ध्यान नहीं रख पाते है. तो हर hospital में बहुत से नर्स की जरुरत पड़ती है, जो मरीज (patient) का ख्याल रखते है. और समय पर दवाइया देना अदि सबकुछ नर्स का ही काम होता है. इस कोर्स की अवधि लगभग 4 साल का होती है. इसके बाद आप इसी कोर्स के अंदर M.sc भी कर सकते हैं. इससे आपकी डिग्री की वैल्यू बढ़ जाती है. वैसे इस कोर्स को ज्यादातर लड़कियां ही करती है. लेकिन आज के समय में इस कोर्स की बढ़ती मांग को लेकर अब लड़के भी nursing course में admission लेना पसंद करते हैं.

Admission:

बहुत से छात्र इस कोर्स को लेना पसंद करते हैं और कोशिश करते हैं कि उन्हें भी एक सरकारी कॉलेज की सीट मिल जाए ताकि उनकी साल की फीस बच जाये. लेकिन यहां सीट न मिलने पर इसे आप private college से भी कर सकते हैं.

Fees:

सरकारी कॉलेज में फीस (fees) बहुत ही कम होती है जबकि प्राइवेट कॉलेज की फीस लगभग 60 से 90 हजार वार्षिक होती है.


Physiotherapy course after 12th

Health field में (BPT) Bachelor of physiotherapy course भी एक बढ़िया ऑप्शन है और भविष्य में इसकी मांग बढ़ने वाली है. इनका काम रोगियों को physical injuries व muscular injuries से रिकवर करना होता है. इसके आलावा यह शारीर, हड्डियों में दर्द आदि का भी इलाज करते हैं. फिजियोथेरेपी में ख़ास बात यह ही है कि आपको दवाई लेने की जरुरत नहीं पड़ती है. इन फिजिकल थेरेपी से ही रोगों का इलाज होता है. यह कोर्स 4.5 साल का होता है जिसमें 4 साल की academic पढ़ाई होती है व आधे साल का प्रैक्टिकल ज्ञान दिया जाता है.

Admission:

बहुत से अच्छे सरकारी कॉलेज हैं, जहां आप entrance exam (state & national level) की मदद से admission ले सकते हो और बहुत सी अच्छी प्राइवेट कॉलेज है, जो इस कोर्स को करवाती है.

Fees:

सरकारी कॉलेज में कम फीस में भी यह कोर्स कम्पलीट हो जाता है और प्राइवेट कॉलेज में इस कोर्स की वार्षिक फीस 60 हजार से 1.6 लाख तक होती है.


B.Sc. course after 12th

भारत में बहुत से लोग B.Sc. करना पसंद करते हैं. आप भी bachelor of science में अपना graduation कर सकते हैं जो 3 साल में पूरी हो जाती है और इसके बाद आप master degree के लिए भी आवेदन कर सकते हैं. बहुत से bachelor degree course हैं, जिन्हें ख़त्म होने में 3 साल से अधिक समय लगता है जैसे B.sc. agriculture, horticulture etc. यह कोर्स 4 साल के होते हैं. इन कोर्स को करके आप अपनी ग्रेजुएशन पूरी कर सकते हैं. इसके बाद आप गवर्नमेंट व प्राइवेट सेक्टर में जॉब के लिए आवेदन कर सकते हो.

  • B.Sc. Biology
  • B.Sc. Physics
  • B.Sc. Chemistry
  • B.Sc. Biotechnology
  • B.Sc. Genetics
  • B.Sc. Microbiology
  • B.Sc. Zoology
  • B.Sc. Botany
  • B.Sc. Biochemistry
  • B.Sc. Environmental Science
  • B.Sc. Anthropology
  • B.Sc. Nursing
  • B.Sc. Occupational Therapy
  • B.Sc. Physiotherapy
  • B.Sc. Radiology
  • B.Sc. Pathology
  • B.Sc. Agriculture
  • B.Sc. Fisheries Science
  • B.Sc. Horticulture
  • B.Sc. Bioinformatics
  • B.Sc. Sports Science
  • B.Sc. Anaesthesia and Operation Theatre Technology
  • B.Sc. Medical Laboratory Technology
  • B.Sc. Health Science and Nutrition

Admission:

बहुत से सरकारी कॉलेज 12th के बाद B.sc. कराते हैं लेकिन इन कॉलेज में admission मेरिट लिस्ट (merit list) पर ही होता है. इसके आलावा बहुत से entrance exam है. ICAR, JET, BHU, state व national level के जिसे आप क्लियर करके आसानी से admission प्राप्त कर सकते हो. बहुत से प्राइवेट कॉलेज भी यह कोर्स करवाते हैं. आप वहां पर भी एडमिशन ले सकते हो.

Fees:

हर B.sc. course की फीस अलग-अलग होती है. जैसे B.sc. biology के मुकाबले B.sc. agriculture की फीस ज्यादा होती है. इसके अलाव जो भी सरकारी कॉलेज है उनकी फीस बहुत कम होती है. वहीं प्राइवेट कॉलेज की फीस बहुत ज्यादा होती है.


Diploma course for biology student:

जिस तरह maths में डिप्लोमा कोर्स (Diploma courses) होते हैं. उसी तरह biology में भी डिप्लोमा कोर्स होते हैं. यह डिप्लोमा कोर्स बहुत ही छोटे होते हैं. लगभग साल में ख़त्म हो जाते हैं. इसके बाद आप नौकरी के लिए आवेदन कर सकते हो.

  • Diploma in Nursing
  • Diploma in Pharmacy
  • Diploma in Operation Theatre Technology
  • Diploma in Medical Laboratory Technology
  • Diploma in Anaesthesia Technology
  • Diploma in Yoga Education
  • Diploma in Food Science and Nutrition
  • Diploma in Medical Electronics
  • Diploma in Forestry
  • Diploma in Toxicology
  • Diploma in General Nursing and Midwifery
  • Diploma in Interior Designing
  • Diploma in Fashion Designing
  • Diploma in Journalism and Mass Communication

Admission:

इन कोर्सेस में एडमिशन के लिए आप सरकारी व प्राइवेट कॉलेज में आवेदन कर सकते हो. इन कोर्सेस की फीस भी इतनी ज्यादा नहीं होती है.


Teaching course in science biology

आप ग्रेजुएशन (graduation) के बाद पढ़ाने का सोच रहे हो तो यह कोर्स आपके लिए बेस्ट ऑप्शन है. इस कोर्स को teachers training course कहते हैं. वैसे B.ed. करने के लिए हमारा ग्रेजुएशन पास होना जरुरी है लेकिन ऐसे बहुत से course हैं जिसे आप 12th के बाद कर सकते हैं. इस कोर्स की ड्यूरेशन लगभग 4 साल होती है.

Admission:

इस कोर्स में admission के लिए आपको entrance exam देना होता है और एंट्रेंस के मेरिट लिस्ट पर ही छात्रों का सिलेक्शन होता है.

Fees:

सरकारी कॉलेज की फीस बहुत ही कम होती है. वहीं प्राइवेट कॉलेज साल के 50 से 90 हज़ार रुपये तक लेते हैं.


Bachelor of Veterinary Science

BVSc., यह कोर्स 3 साल का न होकर 5 साल का होता है. यह कोर्स उनके लिए सबसे अच्छा हो सकता है, जो जानवर से प्रेम करते हैं. या जानवर की देखभाल व उनकी समस्याओं का समाधान करने में रूचि रखते हो. इस कोर्स में आपको जानवरों का इलाज, उनके पोषण आदि के बारे में सिखाया जाता है.

Admission:

इस कोर्स में admission entrance exam (NEET, AAU VET, RPVT) के क्लियर करने पर ही मिलता है.

Fees:

सरकारी कॉलेज की फीस बहुत ही कम होती है जबकि प्राइवेट कॉलेज की फीस 60 से 90 हज़ार वार्षिक होती है.


B.pharmacy course after 12th bio

इस कोर्स के बारे में मैंने ऊपर बता दिया है. इस कोर्स को pcb+pcm दोनों ही कर सकते हैं लेकिन अगर आपके 12th में biology थी. तो आपके लिए फार्मेसी लेना और सब्जेक्ट समझना और आसान हो जाता है. इस कोर्स में आपको मेडिसिन शरीर में कैसे काम करती हैं, मेडिसिन को कैसे बनाते हैं, मेडिसिन कब लेनी चाहिए आदि के बारे में सिखाया जाता है. यह कोर्स 4 साल का होता है. आप चाहे तो इस कोर्स में मास्टर (M.pharma) भी कर सकते हैं. फार्मेसी कोर्स से आप Pharmaceutical companies में काम कर सकते हो. इसके आलावा खुद का मेडिकल स्टोर का बिज़नेस खोलकर अच्छी कमाई कर सकते हो.

Admission:

Pharmacy के लिए बहुत सारे entrance exam है जिसे आप पास करके अच्छे कॉलेज में दाखिला करवा सकते हैं. इसके आलावा बहुत सी प्राइवेट कॉलेज (private college) भी यह कोर्स प्रदान करवाती हैं.

Fees:

सरकारी कॉलेज की फीस बहुत ही कम लगती है व प्राइवेट कॉलेज की फीस 50 हजार से 1 लाख रुपये सालाना लगती है.


Bio math group course

ऐसे भी बहुत से कोर्स हैं, जो biology व maths स्टूडेंट्स दोनों कर सकते हैं. जैसे हमने 1-2 courses की बात की जैसे B.pharmacy, B.sc. agriculture आदि.


B.B.A Course After 12th

BBA कोर्स कॉमर्स फील्ड (commerce field) से आता है लेकिन इस कोर्स को 12th के बाद साइंस स्टूडेंट्स भी ले सकते हैं. BBA यानी Bachelor of Business Administration यह कोर्स 3 साल का होता है. इस कोर्स में आपको बिज़नेस, एकाउंटिंग, मैनेजमेंट, मार्केटिंग आदि के बारे में सिखाया जाता है. इस कोर्स के बाद आप MBA (Master of Business Administration) भी कर सकते हैं, जो लगभग 2 साल का होता है.

Admission:

जो प्रतिष्ठित college है वहां एडमिशन मेरिट लिस्ट पर होता है. इसके आलावा बहुत से प्राइवेट कॉलेज भी हैं, जो यह कोर्स करवाते हैं.

Fees:

वैसे फीस कॉलेज के ऊपर निर्भर करती है. सरकारी कॉलेज की फीस बहुत कम होती है जबकि प्राइवेट कॉलेज में लगभग 40 हजार से 1 लाख के करीब सालभर की फीस होती है.


Event management course after 12th science

अगर आप साइंस संकाय (science stream) से अलग निकलकर कुछ और फ्यूचर स्कोप फील्ड (future scope field) में जाना चाहते हैं तो इवेंट मैनेजमेंट कोर्स (event management course) भी एक अच्छा ऑप्शन है. इस कोर्स में आप डिप्लोमा (diploma), सर्टिफिकेट (certificate) या स्नातक (graduation) भी कर सकते हो. आज के समय में इवेंट मैनेजमेंट कोर्स भी एक प्रोफेशनल कोर्स (professional course) बन गया है और इस क्षेत्र में नौकरियां भी बढ़ती जा रही हैं. इसके अलावा आप अपना खुद का बिज़नेस सेटअप कर के भी अच्छा पैसा कमा सकते हो.


Journalism and mass communication course

यह कोर्स भी आज के समय में बहुत ही प्रचलित हो रहा है. इस कोर्स में आपको मीडिया सेक्टर (media sector) के संबंधित पढ़ाई करवाई जाती है, न्यूज़ रिपोर्टिंग, जर्नलिज्म या पत्रकारिता, वीडियो शूटिंग, स्क्रिप्ट लिखना, न्यूज़ को लोगो के सामने प्रेजेंट करना आदी सबकुछ इस कोर्स में सिखाया जाता है. इस कोर्स में आप डिप्लोमा या डिग्री कर सकते हो.

Fees:

B.A. in Journalism and Mass Communication (3 साल) की फीस 40 हजार से 1 लाख रुपए होती है. वहीं Diploma in Journalism and Mass Communication (1 साल) की फीस 14 हजार से 80 हजार रुपये ली जाती है.


ये कुछ ख़ास कोर्स है जिसे आप 12th के बाद साइंस स्टूडेंट कर सकते हैं. इसमें ऐसे भी बहुत से कोर्स हैं जिसके लिए आपको entrance exam देना व क्लियर करना जरुरी होता है. लेकिन आप वो ही science course ले जो आपका मनपसन्द व आपके पढ़ने की क्षमता के अनुसार हो. जैसे आप ज्यादा देर तक नहीं पढ़ सकते हैं तो आप ऐसा कोर्स न ले जिसमें बहुत ज्यादा पढ़ना पढ़े. आप वो ही कोर्स को चुने जिसमें  भविष्य में स्कोप हो.

***All the Best***

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here