Home Success Story Success Story | यूपीएससी में पांच बार हुए फेल, हार नहीं मानी...

Success Story | यूपीएससी में पांच बार हुए फेल, हार नहीं मानी और छठवें प्रयास में सौरभ बने आईएएस

आज आपको यूपीएससी परीक्षा 2019 में ऑल इंडिया रैंक 66 प्राप्त कर आईएएस अफसर बनने वाले सौरभ पांडे की कहानी बताएंगे, जिन्होंने लंबे संघर्ष के बाद सफलता प्राप्त की. उनकी कहानी सभी के लिए प्रेरणादायक है. सौरभ को यूपीएससी में सफलता मिलने में करीब 7 साल का लंबा वक्त लगा. यूपीएससी में उन्हें पांच बार असफलता मिली, लेकिन उन्होंने हार नहीं मानी और आईएएस अफसर बनने तक मेहनत जारी रखी. कई बार सौरभ निराश हुए लेकिन उनके आसपास के लोगों ने सकारात्मक माहौल बनाया और उन्हें आगे बढ़ने के लिए प्रेरित किया. इस तरह उन्होंने यूपीएससी का अपना सफर पूरा किया.

ग्रेजुएशन के बाद शुरू की तैयारी

सौरभ मूल रूप से उत्तर प्रदेश के वाराणसी के रहने वाले हैं. इंटरमीडिएट के बाद उन्होंने ग्रेजुएशन में दाखिला ले लिया. ग्रेजुएशन की डिग्री हासिल करने के बाद उनकी नौकरी लग गई. जॉब करने के दौरान उन्होंने यूपीएससी में जाने का मन बनाया और तैयारी शुरू कर दी. साल 2014 में उन्होंने यूपीएससी में पहला प्रयास किया, लेकिन सफलता नहीं मिली. इसके बाद लगातार दो प्रयास में वह प्री परीक्षा पास नहीं कर पाए. कुल मिलाकर शुरुआती तीन प्रयासों में उन्हें यूपीएससी की मेंस परीक्षा तक जाने का मौका नहीं मिला. इसके बाद चौथे और पांचवें प्रयास में वह इंटरव्यू तक पहुंचे लेकिन फाइनल लिस्ट में नाम नहीं आया. आखिरकार छठवें प्रयास में उनका सपना पूरा हुआ.

परिवार और दोस्तों का सपोर्ट

जब 5 बार यूपीएससी में असफलता मिली तो सौरभ ने यह क्षेत्र छोड़ने का मन बना लिया. उन्हें लगा अब यहां समय देने का कोई फायदा नहीं है. हालांकि उनके दोस्त और परिवार वालों ने काफी सपोर्ट किया और एक और प्रयास करने के लिए प्रेरित किया. इन सभी के मोटिवेशन से सौरभ ने आखिरी प्रयास करने का फैसला लिया और इस बार उनकी किस्मत ने साथ दिया. इस तरह उन्होंने 2019 में ऑल इंडिया रैंक 66 प्राप्त कर आईएएस अफसर बनने का सपना पूरा कर लिया.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here