Home हिंदी प्रधानमंत्री का संदेश : आत्मनिर्भर भारत शब्द नहीं, भारतीयों के लिए बना...

प्रधानमंत्री का संदेश : आत्मनिर्भर भारत शब्द नहीं, भारतीयों के लिए बना मंत्र

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा, सिर्फ कुछ महीनो के पहले तक N-95 मास्क, PPE किट, वेंटिलेटर ये सब हम विदेशों से मंगाते थे. आज इन सभी में भारत, न सिर्फ अपनी जरूरतें खुद पूरी कर रहा है, बल्कि दूसरे देशों की मदद के लिए भी आगे आया है. आत्मनिर्भर भारत आज 130 करोड़ भारतीयों के लिए उन्नति का मंत्र बन गया है.

नई दिल्ली : 74वें स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश को आत्मनिर्भर भारत बनाने पर जोर दिया. पीएम मोदी ने कहा कि कोरोना महामारी के बीच 130 करोड़ देशवासियों ने आत्मनिर्भर बनने का संकल्प लिया. आत्मनिर्भर भारत देशवासियों के मन-मस्तिष्क में छाया है. आत्मनिर्भर ये आज सिर्फ शब्द नहीं रहा, बल्कि 130 करोड़ देशवासियों के लिए मंत्र बन गया है. अब हमें आत्मनिर्भर बनना होगा लेकिन अब दूसरों पर निर्भरता खत्म करनी होगी. जब तक हम इंपोर्ट करते रहेंगे तब तक हम अपनी स्किल को नहीं बढ़ा पाएंगें.

प्रधानमंत्री ने आगे कहा, आत्मनिर्भर भारत के सामने लाखों चुनौतियां हैं. लेकिन अगर देश के सामने लाखों चुनौतियां है तो देश के पास करोड़ों समाधान देने वाली शक्ति भी हैं, देशवासी भी हैं जो समाधान का सामर्थ्य देते हैं. कोरोना संकट काल में हमें बहुत चीजें दुनिया से लाने की जरूरत है, लेकिन दुनिया दे नहीं पा रही है. ऐसे में हमारे देश के उद्योग जगत के लोगों ने जिम्मेदारी उठाई. पहले एन-95 मास्क देश में नहीं बनता था अब बनने लगे. पीपीई, वेटिंलेटर नहीं बनते थे अब बनने लगे हैं. देश के आवश्यकताओं की पूर्ति हुई, साथ ही दुनिया में एक्सपोर्ट करने की हमारी ताकत बढ़ गई. आत्मनिर्भर भारत कैसे दुनिया की मदद कर सकता है, आज आप ये देख सकते हैं.

पीएम मोदी के संबोधन की बड़ी बातें

आजादी का पर्व नए संकल्पों के लिए उर्जा का अवसर

– विस्तारवाद की सोच ने विस्तार के बहुत प्रयास किए

-विस्तारवाद की सोच ने सिर्फ कुछ देशों को गुलाम बनाकर ही नहीं छोड़ा, बात वहीं पर खत्म नहीं हुई

– भीषण युद्धों और भयानकता के बीच भी भारत ने आजादी की जंग में कमी और नमी नहीं आने दी

– भारत जैसे देश के लिए आत्मनिर्भर बनना अनिवार्य

– कब तक कच्चा माल दुनिया में भेजते रहेंगे

– चुनौतियां हैं तो देश के पास समाधान की शक्ति भी है

– FDI ने देश में अब तक के सारे रिकॉर्ड तोड़ दिए

– हमें मेक इन इंडिया के साथ-साथ मेक फॉर वर्ल्ड मंत्र के साथ आगे बढ़ना है

– आधुनिक भारत के निर्माण में शिक्षा का अहम रोल

– जड़ों से जुड़े ग्लोबल सिटीजन पैदा करेगी नई राष्ट्रीय शिक्षा नीति

– पीएम मोदी ने नेशनल डिजिटल हेल्थ मिशन का ऐलान किया

– भारत में कोरोना की तीन वैक्सीन पर काम चल रहा. वैज्ञानिकों से हरी झंडी मिलने का इंतजार है

– भारत की संप्रभुता की रक्षा के लिए पूरा देश एक. चुनौती देने वालों को उसी की भाषा में जवाब दिया. हम क्या कर सकते हैं लद्दाख में दुनिया ने देखा

#आत्मनिर्भर खबर डॉट कॉम डेस्क

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here