Home Cricket #IPL | आईपीएल से जुड़ी अहमदाबाद और लखनऊ टीम, अब कुल 10...

#IPL | आईपीएल से जुड़ी अहमदाबाद और लखनऊ टीम, अब कुल 10 टीमें होंगी शामिल

525
आईपीएल की दो नई टीमों का ऐलान हो गया है। अहमदाबाद और लखनऊ दो नईं फ्रेंचाइजी के रूप में अगले सीजन में शामिल होंगी। इसके साथ ही 2022 के आईपीएल में कुल 10 टीमें एक-दूसरे के खिलाफ खेलती हुई दिखाई देंगी। ऐसा पहली बार नहीं होगा, जब आईपीएल में 10 टीमें होंगी। इससे पहले 2011 में हुए आईपीएल के तीसरे सीजन में भी 10 टीमें थीं। उस वक्त कोच्चि टस्कर्स केरला और पुणे वॉरियर्स नाम की फ्रेंचाइजी आईपीएल का हिस्सा बनी थीं।

नई टीमों की मेजबानी के लिए 6 शहर रेस में थे। सबसे ज्यादा मजबूत दावेदार अहमदाबाद और लखनऊ थे। इन दो शहरों को ही मेजबानी मिली है। अहमदाबाद को मौका मिलने की एक बड़ी वजह इसी साल वहां बना दुनिया का सबसे बड़ा क्रिकेट स्टेडियम भी है, जिसमें एक लाख से ज्यादा दर्शक बैठ सकते हैं।

अहमदाबाद लंबे समय से नई टीम के लिए होड़ में था। 2010 में जब 10 टीमों का आईपीएल हुआ था, तब भी अहमदाबाद रेस में था। उसके लिए बोली भी लगाई गई थी, लेकिन तब बाजी पुणे और कोच्चि की फ्रेंचाइजी ने मारी थी।

लखनऊ को चुने जाने के पीछे कहा जा रहा है कि इसके जरिए BCCI सबसे ज्यादा आबादी वाले राज्य यूपी में आईपीएल को ले जाना चाहता है। इन दो शहरों के अलावा कटक, गुवाहाटी, इंदौर और धर्मशाला शहरों के नाम भी चर्चा में थे।

दो टीमों को खरीदने के लिए कुल 22 बिजनेस घरानों ने दिलचस्पी दिखाई थी। इनमें अडाणी ग्रुप, इंग्लिश फुटबॉल क्लब मैनचेस्टर यूनाइटेड का मालिक ग्लेजर परिवार, टोरेंट फार्मा, अरबिंदो फार्मा, आरपी-संजीव गोयनका ग्रुप, हिंदुस्तान टाइम्स मीडिया ग्रुप, पूर्व सांसद नवीन जिंदल की जिंदल स्टील, रॉनी स्क्रूवाला और तीन प्राइवेट इक्विटी से जुड़े लोग शामिल थे।

आरपी-संजीव गोयनका ग्रुप ने लखनऊ की टीम को 7,090 करोड़ रुपए में खरीदा है और पांच साल बाद दोबारा लीग में वापसी कर ली है। इससे पहले गोयनका ग्रुप के पास दो साल 2016 व 2017 में राइजिंग पुणे सुपर जाइंट्स की टीम रही थी। वहीं CVC कैपिटल ने 5,166 करोड़ रुपए में अहमदाबाद की टीम खरीदी है।

2011 में पहली बार IPL में दो टीमें जोड़ी गई थीं। जब कोच्चि टस्कर्स केरला और पुणे वॉरियर्स IPL का हिस्सा बनी थीं। अगले ही साल ये टूर्नामेंट 10 से घटकर नौ टीमों का हो गया। जब कोच्चि टीम IPL से अलग हो गई। 2012 और 2013 के आईपीएल 9 टीमों के हुए। इसके बाद 2014 में पुणे वॉरियर्स भी आईपीएल से हट गई और ये टूर्नामेंट दोबारा 8 टीमों का हो गया।

आईपीएल 2016 में जब मैच फिक्सिंग के चलते चेन्नई सुपर किंग्स और राजस्थान रॉयल्स पर बैन लगा तो आखिरी बार आईपीएल में नई टीमें शामिल की गईं। बैन के बाद दो फ्रेंचाइजी की जगह राइजिंग पुणे सुपरजाइंट्स और गुजरात लॉयन्स ने दो सीजन में हिस्सा लिया। जैसे ही चेन्नई और राजस्थान से बैन हटा तो आईपीएल में शामिल पुणे और गुजरात को टूर्नामेंट से अलग कर दिया गया।

#investment | क्या है IPO? जानिए इसमें इन्वेस्टमेंट के फायदे और कंपनियां कहां करती है पैसों का इस्तेमाल

Previous article#nagpur । नागपूरकरांच्या “बार्डो” चित्रपटाला मराठीचा राष्ट्रीय पुरस्कार
Next article@nitin_gadkari | सरकार और ब्यूरोक्रेसी पर एक बार फिर बेबाक टिप्पणी, बड़े स्तर पर अहंकार होता है
वाचकांनो आपन “आत्मनिर्भर खबर डॉट कॉम” ला ट्वीटर, इंस्टाग्राम आणि फेसबुक पर फॉलो करत आहात ना? अजूनपर्यंत ज्वाइन केले नसेल तर आमच्या अपडेट्स साठी आत्ताच क्लिक करा (ट्वीटर- @aatmnirbharkha1), (इंस्टाग्राम- @aatmnirbharkhabar2020), (यू ट्यूब-@aatmnirbhar khabar )(फेसबुक- @aatmnirbharkhabar2020).