Home Health Nagpur। वाड़ी के वेल ट्रीट अस्पताल में आग, 4 की झुलसकर मौत

Nagpur। वाड़ी के वेल ट्रीट अस्पताल में आग, 4 की झुलसकर मौत

नागपुर ब्यूरो : नागपुर से सटे वाड़ी इलाके में स्थित वेल ट्रीट हॉस्पिटल में शुक्रवार की शाम लगी आग में झुलसकर 4 लोगो की मौत हुई। इस घटना में 1 महिला और 3 पुरुष झुलसे. हॉस्पिटल में कुल 27 मरीजों का इलाज चल रहा था। इस मामले में पुलिस का कहना है कि सभी मरीजों को दूसरे अस्पताल में शिफ्ट कर दिया गया है।

दूसरी मंजिल पर आईसीयू की एसी यूनिट से फैली आग

नागपुर मनपा के प्रमुख अग्निशमन अधिकारी राजेंद्र उचके ने बताया कि अस्पताल की दूसरी मंजिल पर स्थित आईसीयू के एसी यूनिट से आग की शुरुआत हुई। दूसरी मंजिल तक ही आग सीमित रही और आगे नहीं फैल पाई। उन्होंने बताया कि यह गैर कोविड अस्पताल है। घटना में चार लोगों की मौत हो गई और कुछ अन्य लोग घायल हो गए। आग पर काबू पाने के लिए दमकल के कई वाहनों को घटनास्थल पर भेजा गया। उचके ने बताया कि जिस समय आग लगी उस वक्त दूसरी मंजिल पर 10 मरीज थे। आग लगने के बाद 6 मरीज खुद ही बाहर निकल गए, जबकि चार मरीजों को दमकलकर्मियों ने बचाया।

27 मरीजों को दूसरी जगह शिफ्ट किया गया

वहीं, गवर्मेंट मेडिकल कॉलेज के चिकित्सा अधीक्षक डॉ. अविनाश गावंडे ने बताया कि शवों को सरकारी मेडिकल कॉलेज और अस्पताल लाया गया है। 27 मरीजों को दूसरी जगह शिफ्ट किया गया है। जानकारी के अनुसार रात करीब नौ बजे अमरावती मार्ग पर वाडी के पास स्थित वेल ट्रीट अस्पताल के आईसीयू वार्ड में आग लग गई। कहा जा रहा है कि आग एसी में शॉर्ट सर्किट की वजह से लगी। इस घटना में अस्पताल के एक चिकित्सक के घायल होने की खबर है।

सवालों के घेरे में अस्पतालों का फायर सेफ्टी सिस्टम

करीब तीन महीने पहले महाराष्ट्र के ही भंडारा में जिला अस्पताल में आग से 10 नवजातों की मौत हो गई थी। इसकी वजह शॉर्ट सर्किट बताई गई थी। मरने वाले बच्चों की उम्र एक दिन से लेकर 3 महीने तक थी। जांच में पता चला था कि अस्पताल में आग बुझाने के कोई इंतजाम ही नहीं थे। कोई इमरजेंसी एग्जिट भी नहीं था। दो साल पहले एक आरटीआई में यह खुलासा हो गया था। इसके बावजूद इसमें सुधार नहीं किया गया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here