Home हिंदी एयरपोर्ट पर था सफाई कर्मी, अब करोड़ों के टर्नओवर वाली कंपनी का...

एयरपोर्ट पर था सफाई कर्मी, अब करोड़ों के टर्नओवर वाली कंपनी का है मालिक

740

ऑस्ट्रेलिया बेस्ड एक मल्टीनेशनल डिजिटल फर्म के मालिक आमिर कुतुब, अभी महज 31 साल के हैं। आमिर के बिजनेस का टर्नओवर दस करोड़ है। इनकी कंपनी की मौजदूगी कुल चार देशों में है। एक समय ऐसा भी था जब आमिर एयरपोर्ट पर सफाई का काम किया करते थे। इतना ही नहीं आमिर ने घरों तक अखबार पहुंचाने का काम भी किया। लेकिन खुद का व्यवसाय करने का जुनून इस कदर उन पर छाया था कि कोई भी चुनौती डिगा नहीं सकी।

आमिर कुतुब अलीगढ़ की एक मिडिल क्लास फैमिली से ताल्लुक रखते हैं। इनके पिताजी सरकारी नौकरी में और मां हाउस वाइफ हैं। उनके पिता ने 12वीं के बाद बीटेक में बीटेक में एडमिशन करवा दिया। लेकिन आमिर को पढ़ाई में बिल्कुल दिलचस्पी नहीं थी। बीटेक के कोर्स के दौरान सेकंड ईयर में आमिर को सोशल नेटवर्किंग ऐप बनाने का विचार आया। आमिर इसके लिए कोडिंग सीखनी शुरू कर दी। कुछ दिनों तक कोडिंग सीखने के बाद आमिर एक दोस्त के साथ मिलकर एक सोशल नेटवर्किंग ऐप बनाई और उसे लॉन्च कर दिया।

इंजीनियरिंग की पढ़ाई पूरी करने के बाद आमिर को दिल्ली में होंडा कंपनी में जॉब मिल गई। हालांकि, अपना बिजनेस करने के जुनून में एक साल बाद उन्होंने होंडा कंपनी की जॉब छोड़ दी। आमिर ने वेबसाइट डिजाइनिंग का फ्रीलांसिंग काम करना शुरू कर दिया। फ्रीलांसिंग के दौरान ही आमिर को ऑस्ट्रेलिया, यूएस, यूके के क्लाइंट मिले। उन्हीं में से कुछ ने सलाह दी कि तुम विदेश जाकर अपना बिजनेस सेट क्यों नहीं कर रहे? क्लाइंट की सलाह को मानकर आमिर स्टूडेंट वीजा पर ऑस्ट्रेलिया पहुंचे और वहां के एक एमबीए कॉलेज में एडमिशन लिया।

एमबीए करने के लिए फर्स्ट सेमेस्टर के लिए कुछ स्कॉलरिशप मिल गई थी। कुछ पैसा घर से मिल गया था। लेकिन ऑस्ट्रेलिया पहुंचने के बाद दूसरे सेमेस्टर की फीस चुनौती बन गई। ऐसे में आमिर को एयरपोर्ट पर क्लीनिंग का काम मिला। इस काम के लिए उन्हें 20 डॉलर प्रतिघंटा मिलता था। इसके बाद उन्होंने क्लीनिंग का काम छोड़ रात 3 बजे से सुबह 7 बजे तक घरों में अखबार डालने का काम करना शुरू किया।

काफी मेहनत के बाद आमिर किसी तरह ऑस्ट्रेलिया में अपनी कंपनी रजिस्टर्ड कर ली। लेकिन अब उनके सामने चुनौती क्लाइंट बनाने की थी। एक दिन बस में आमिर को एक छोटा बिजनेसमैन मिला। आमिर के काम के बारे में सुनकर उस आदमी ने कहा कि तुम चाहो तो मेरी कंपनी के लिए सिस्टम बना सकते हो लेकिन मैं इसका कोई चार्ज नहीं दूंगा। आमिर ने उस शख्स के लिए ऐसा सिस्टम बनाया जिससे उसके महीने के 5 हजार डॉलर बचने लगे। वो शख्स आमिर के काम से खुश होकर ना सिर्फ पेमेंट किया बल्कि कई क्लाइंट भी बनवाए।

इसी तरह धीरे-धीरे आमिर का बिजनेस पुरी तरह से सेट हो गया। आज चार देशों में उनकी कंपनी है और करीब 10 करोड़ का टर्नओवर है। आमिर के कंपनी में 100 परमानेंट कर्मचारी के साथ-साथ करीब 300 कॉन्ट्रेक्टर्स काम कर रहे हैं।


रीडर्स आप आत्मनिर्भर खबर डॉट कॉम को ट्वीटर, इंस्टाग्राम और फेसबुक पर फॉलो कर रहे हैं ना? …. अबतक ज्वाइन नहीं किया है तो अभी क्लीक कीजिये (ट्वीटर- @aatmnirbharkha1), (इंस्टाग्राम- @aatmnirbharkhabar2020), (फेसबुक- @aatmnirbharkhabar2020और पाते रहिये हमारे अपडेट्स.

Previous articleयूपीआई भुगतान | बाजार हिस्सेदारी सीमा तय करने का असर ग्राहकों पर : गूगल पे
Next articleपहले सबसे युवा सीनेटर से सबसे उम्रदराज अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन
वाचकांनो आपन “आत्मनिर्भर खबर डॉट कॉम” ला ट्वीटर, इंस्टाग्राम आणि फेसबुक पर फॉलो करत आहात ना? अजूनपर्यंत ज्वाइन केले नसेल तर आमच्या अपडेट्स साठी आत्ताच क्लिक करा (ट्वीटर- @aatmnirbharkha1), (इंस्टाग्राम- @aatmnirbharkhabar2020), (यू ट्यूब-@aatmnirbhar khabar )(फेसबुक- @aatmnirbharkhabar2020).