Home मेट्रो #Maha_Metro l महा मेट्रो वर्धा रोड डबल डेकर वाया-डक्ट को गिनीज वर्ल्ड...

#Maha_Metro l महा मेट्रो वर्धा रोड डबल डेकर वाया-डक्ट को गिनीज वर्ल्ड रिकॉर्ड्स में स्थान

283

संपूर्ण विश्व का मेट्रो श्रेणी में सबसे लंबा डबल डेकर वाया-डक्ट घोषित

नागपुर ब्यूरो : शहर में परियोजना को क्रियान्वित करते हुए कई कीर्तिमान स्थापित करने वाली महा मेट्रो ने एक और अहम मुकाम हासिल किया है. महा मेट्रो नागपुर के वर्धा रोड डबल डेकर वाया-डक्ट को मेट्रो श्रेणी में संपूर्ण विश्व के सबसे लंबे डबल डेकर वायाडक्ट के रूप में प्रतिष्ठित गिनीज वर्ल्ड रिकॉर्ड्स में दर्ज किया गया है। यह 3.14 किमी लंबा डबल डेकर वाया-डक्ट एशिया और इंडिया बुक ऑफ रिकॉर्ड्स के अंतर्गत पहले ही एशिया का सबसे लंबा डबल डेकर वायाडक्ट के रूप में दर्ज है।

अगले मंगलवार यानी 6 दिसंबर 2022 को मेट्रो भवन में आयोजित समारोह में महा मेट्रो के प्रबंध निदेशक डॉ. बृजेश दीक्षित को इस संबंध में प्रमाण पत्र प्रदान किया जाएगा। गिनीज वर्ल्ड रिकॉर्ड्स का मुख्यालय लंदन में है, और इस संस्था के एडजडिकेटर श्री ऋषि नाथ, डॉ दीक्षित को इस संबंध में प्रमाण पत्र देकर सम्मानित करेंगे।

वर्धा रोड पर डबल डेकर वाया-डक्ट का निर्माण एक बड़ी चुनौती थी। यह 3-स्तरीय संरचना है, जिसके शीर्ष पर मेट्रो रेल है, मध्य स्तर पर राजमार्ग फ्लाईओवर और जमीनी स्तर पर मौजूदा सड़क है। गिनीज वर्ल्ड रिकॉर्ड के सर्टिफिकेट से यह 3.14 किमी डबल डेकर वायाडक्ट दुनिया में किसी भी मेट्रो रेल प्रणाली में सबसे लंबी संरचना निश्चित हो गयी है।

महा मेट्रो ने गिनीज वर्ल्ड रिकॉर्ड्स (GWR) के तहत इस डबल डेकर वायाडक्ट को पंजीकृत होने के लिए आवेदन किया था। GWR के प्रतिनिधि ने इस प्रस्ताव पर अपनी टीम के साथ विस्तृत अध्ययन किया। उसके बाद गिनीज वर्ल्ड रिकॉर्ड्स ने महा मेट्रो के दावे को स्वीकार करते हुए गिनीज वर्ल्ड रिकॉर्ड देने का ऐलान किया।

यह बहुत गर्व की बात है कि महा मेट्रो परियोजना को इस बेहद प्रतिष्ठित और विश्व प्रसिद्ध रिकॉर्ड के लिए चुना गया है। निकट भविष्य में महा मेट्रो इस तरह और रिकॉर्ड बनाने का ध्येय रखता है। गिनीज वर्ल्ड रिकॉर्ड्स द्वारा मान्यता प्राप्त होना इस बात का संकेत है कि महा मेट्रो ने नागपूर में परियोजना को बेहतर तरीके से लागू किया है। इससे पहले, महा मेट्रो नागपूर को न केवल इस सबसे लंबे डबल-डेकर वाया-डक्ट के लिये, बल्कि एशिया और भारत में डबल-डेकर वाया-डक्ट पर सबसे ज्यादा मेट्रो स्टेशन का निर्माण करने के लिये आशिया एअर इंडिया बुक ऑफ रेकॉर्ड्स से भी नवाजा गया था।

यहां यह बताना जरूरी है कि केंद्रीय भूतल परिवहन और राजमार्ग मंत्री श्री नितिन गडकरी ने 10 जुलाई 2022 को महा मेट्रो के एयरपोर्ट साउथ मेट्रो स्टेशन पर आयोजित कार्यक्रम में इन दोनों रिकॉर्डस के लिए डॉ. दीक्षित को प्रमाण पत्र प्रदान कर सम्मानित किया था।

इसी तरह, उल्लेखनीय है कि 2017 में महा मेट्रो नागपुर को एशिया और इंडिया बुक ऑफ रिकॉर्ड्स द्वारा एक और अनोखे रिकॉर्ड के लिए चुना गया था। मार्च 2017 महा मेट्रो ने ‘काम पर सुरक्षा’ (सेफ्टी ऍट वर्क) की अवधारणा को बढ़ावा देने के लिए सबसे बड़ी मानव श्रृंखला का आयोजन किया था। इसके तहत सबसे लंबी मानव श्रृंखला का निर्माण महा मेट्रो द्वारा किया गया और इसके लिये महा मेट्रो को रिकॉर्ड से सम्मानित किया गया। मानव श्रृंखला में श्रमिक, पर्यवेक्षक, प्रबंधक और अन्य अधिकारी शामिल थे।

स्थापना के बाद नागपूर परियोजना को कार्यान्वित करते हुए, महा मेट्रो को कई स्तरों और व्यासपीठ पर सम्मानित किया गया। महा मेट्रो ने इस दरम्यान कई पुरस्कार भी जीते है। महा मेट्रो को यकीन है कि नागपुर वासियों के सहयोग से यह यात्रा आगे भी ऐसे ही जारी रहेगी।

Previous article#Pune | नैनो उपग्रह निर्माण पर इसरो के प्रयास
Next articleशांतिवन चिंचोली येथे डॉ. बाबासाहेब आंबेडकर यांना अभिवादन करण्यास उसळला जनसागर
वाचकांनो आपन “आत्मनिर्भर खबर डॉट कॉम” ला ट्वीटर, इंस्टाग्राम आणि फेसबुक पर फॉलो करत आहात ना? अजूनपर्यंत ज्वाइन केले नसेल तर आमच्या अपडेट्स साठी आत्ताच क्लिक करा (ट्वीटर- @aatmnirbharkha1), (इंस्टाग्राम- @aatmnirbharkhabar2020), (यू ट्यूब-@aatmnirbhar khabar )(फेसबुक- @aatmnirbharkhabar2020).