Home National Lakhimpur Violence | आज लखीमपुर जाएंगे राहुल गांधी? यूपी सरकार का इजाजत...

Lakhimpur Violence | आज लखीमपुर जाएंगे राहुल गांधी? यूपी सरकार का इजाजत देने से इनकार

611

उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार ने राहुल गांधी (Rahul Gandhi) के नेतृत्व वाले कांग्रेस (Congress) के प्रतिनिधिमंडल को लखीमपुर खीरी का दौरा करने की इजाजत देने से इनकार कर दिया है. घटना के बाद 3 अक्‍टूबर से ही यहां पर धारा 144 लागू है. इससे पहले कांग्रेस महासचिव केसी वेणुगोपाल ने राज्‍य सरकार से कांग्रेस प्रतिनिधिमंडल को क्षेत्र का दौरा करने की इजाजत मांगी थी.


पार्टी सूत्रों ने बताया कि राहुल गांधी बुधवार को लखनऊ और फिर लखीमपुर खीरी जाना चाहते हैं ताकि वह हिंसा में मारे गए किसानों के परिवारों से मुलाकात कर संवेदना प्रकट सकें. अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के संगठन महासचिव केसी वेणुगोपाल ने योगी आदित्यनाथ को पत्र भेजा था जिसमें कहा गया कि राहुल गांधी के नेतृत्व में पार्टी का पांच सदस्यीय प्रतिनिधिमंडल 6 अक्टूबर को लखीमपुर खीरी जाएगा.

कांग्रेस का आरोप

कांग्रेस ने उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री से कहा है कि राज्य सरकार ने उत्तर प्रदेश के कई राजनीतिक दलों और पश्चिम बंगाल के एक प्रमुख दल (तृणमूल कांग्रेस) के नेताओं को लखीमपुर खीरी जाने की अनुमति दी है, लेकिन कांग्रेस के नेताओं को अनुमति नहीं दी जा रही है. वेणुगोपाल ने कहा कि कांग्रेस के प्रतिनिधिमंडल को भी दौरा करने की अनुमति दी जाए. लखनऊ में कांग्रेस सूत्रों ने कहा कि राहुल गांधी के लखनऊ पहुंचने से जुड़ी सारी तैयारियां की जा रही हैं.

इससे पहले शिवसेना नेता संजय राउत ने राहुल गांधी से मुलाकात की थी. मुलाकात के बाद उन्होंने कहा था कि कांग्रेस प्रतिनिधिमंडल के लखीमपुर खीरी दौरे को लेकर भी उन्होंने चर्चा की थी. मुलाकात से पहले उन्होंने ये भी कहा था कि प्रियंका गांधी को गिरफ्तार कर लिया गया है, इसलिए राहुल गांधी से मिलना जरूरी है. उन्होंने कहा था, अगर कानून सबके लिए समान है तो प्रियंका गांधी जेल में क्यों हैं और मंत्री खुलेआम घूम रहे हैं.

प्रियंका गांधी ने वीडियो जारी कर पूछे थे सवाल

इससे पहले प्रियंका गांधी ने ट्विटर पर लखीमपुर हिंसा (Lakhimpur Kheri Violence) से संबंधित एक वीडियो शेयर कर पीएम नरेंद्र मोदी से सवाल पूछे थे. प्रियंका गांधी ने ऐलान किया था कि उन्हें चाहे तो पुलिस गिरफ्तार का सकती है लेकिन वो बिना किसान परिवारों से मिले वापस नहीं लौटेंगी.

हरगांव पुलिस स्टेशन के एसएचओ ने बताया कि प्रियंका गांधी के अलावा सांसद दीपेंद्र सिंह हुड्डा, कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू समेत 11 लोगों के खिलाफ शांति भंग की धाराओं में मामला दर्ज किया गया है. इससे पहले प्रियंका गांधी ने ट्विटर के जरिए एक वीडियो जारी करते हुए लिखा था- ये वीडियो आपकी सरकार के एक मंत्री के बेटे को किसानों को गाड़ी के नीचे कुचलते हुए दिखाता है. इस वीडियो को देखिए और इस देश को बताइए कि इस मंत्री को बर्खास्त क्यों नहीं किया गया और इस लड़के को अभी तक गिरफ्तार क्यों नहीं किया गया. मेरे जैसे विपक्ष के नेताओं को तो आपने हिरासत में बगैर किसी ऑडर और एफआईआर के रखा है.” उन्होंने आगे सवाल किया कि ये आदमी अभी भी आजाद क्यों घूम रहा है?

Previous articleवायु सेना नागपुर | रक्षा लेखा विभाग स्थापना दिवस एवं रक्तदान व स्वास्थ्य परीक्षण शिविर का आयोजन
Next articleNagpur ZP । जिल्हा परिषदेची निवडणूक शांततेत, आज निकाल जाहीर होणार
वाचकांनो आपन “आत्मनिर्भर खबर डॉट कॉम” ला ट्वीटर, इंस्टाग्राम आणि फेसबुक पर फॉलो करत आहात ना? अजूनपर्यंत ज्वाइन केले नसेल तर आमच्या अपडेट्स साठी आत्ताच क्लिक करा (ट्वीटर- @aatmnirbharkha1), (इंस्टाग्राम- @aatmnirbharkhabar2020), (यू ट्यूब-@aatmnirbhar khabar )(फेसबुक- @aatmnirbharkhabar2020).