Home National Nagpur | रोजगार सृजन पर 16 अगस्त से जागरूकता मुहिम शुरू करेगा...

Nagpur | रोजगार सृजन पर 16 अगस्त से जागरूकता मुहिम शुरू करेगा केवीआईसी

471

नागपुर ब्यूरो: सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्यम मंत्रालय, भारत सरकार के तहत कार्यरत खादी और ग्रामोद्योग आयोग (केवीआईसी) की ओर से प्रधानमंत्री रोजगार सृजन कार्यक्रम (पीएमईजीपी) चलाया जा रहा है. इसके तहत नए स्वरोजगार उद्यमों, परियोजनाओं, सूक्ष्म उद्यमों की स्थापना के माध्यम से पूरे विदर्भ में पीएमईजीपी कार्यक्रम का प्रभावी क्रियान्वयन करने के लिए 16 अगस्त को दोपहर 12 बजे गांधीसागर, महाल स्थित शिक्षक सहकारी बैंक सभागृह में कार्यशाला एवं जागरूकता कार्यक्रम आयोजित किया जा रहा है. कार्यक्रम का उद्घाटन केंद्रीय सड़क परिवहन व राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी करेंगे. प्रमुख अतिथि के रूप में पूर्व मुख्यमंत्री एवं वर्तमान में विधानसभा में विपक्ष के नेता देवेंद्र फडणवीस उपस्थित रहेंगे. इसके अलावा स्थानीय सभी जनप्रतिनिधियों की भी उपस्थिति रहेगी. यह जानकारी केवीआईसी के सदस्य जयप्रकाश गुप्ता ने यहां आयोजित पत्र परिषद में दी.

विश्व का सबसे बड़ा ध्वज बना रहा खादी

जयप्रकाश गुप्ता ने बताया कि खादी अपने आप में एक ब्रांड है. राष्ट्रीय ध्वज बनाने का महत्वपूर्ण कार्य केवल खादी ही के जिम्मे है. फिलहाल विश्व के सबसे बड़े ध्वज का निर्माण किया जा रहा है, जो 225 फुट चौड़ा और 150 फुट लंबा होगा. अगस्त के अंत तक यह ध्वज तैयार हो जाएगा. बाद में पूरे देश में इसका भ्रमण किया जाएगा, जो नागपुर भी पहुंचेगा. अंत में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी इस ध्वज को सेना को सौंपेंगे. विदेश जाने वाले भारतीयों के पास राष्ट्रीय ध्वज रहना गर्व की बात है. इसलिए हमने विदेश मंत्रालय से बातचीत करके पासपोर्ट बनाने वालों को राष्ट्रीय ध्वज देने पर चर्चा की, जिस पर यथाशीघ्र अमल किया जाएगा. वैसे तो एक ध्वज का शुल्क 150 रुपए है लेकिन पासपोर्टधारकों से इसके केवल 75 रुपए लिए जाएंगे. इसके अलावा केवीआईसी का 42 देशों के साथ विभिन्न प्रोजेक्ट्स पर समझौता (एमओयू) हुआ है.

केवीआईसी मंडलिय कार्यालय नागपुर के डायरेक्टर राघवेंद्र महिंद्रकर ने बताया कि 16 अगस्त को नागपुर में मुहिम की शुरुआत होगी. इसके बाद विदर्भ के सभी 11 जिलों में इस मुहिम को प्रभावी रूप से चलाया जाएगा और ग्रामीण क्षेत्रों में इसकी अधिकाधिक जनजागृ्ति की जाएगी.

केवीआईसी मंडलिय कार्यालय नागपुर के असिस्टेंट डायरेक्टर राजेंद्र खोड़के ने कहा कि योजना के तहत ग्रामीण क्षेत्रों में 500 से 1000 लोगों के क्लस्टर बनाकर उन्हें रोजगार मुहैया कराने का कार्य किया जा रहा है. रोजगार शुरू करने के लिए बैंक से जो लोन लिया जाएगा, उसकी 25 से 35 प्रतिशत सब्सिडी सरकार देगी. पत्र परिषद का आयोजन एसआर मीडिया सर्विसेस के राजेश सोनटक्के ने किया था.

Previous articleNagpanchami 2021 | नागपंचमी आज, इन संदेशों के माध्यम से अपने मित्रों को दें शुभकामनाएं
Next articleअमृत महोत्सव : चला भारतीय स्वातंत्र्यदिनाच्या शुभेच्छा पाठवू या…
वाचकांनो आपन “आत्मनिर्भर खबर डॉट कॉम” ला ट्वीटर, इंस्टाग्राम आणि फेसबुक पर फॉलो करत आहात ना? अजूनपर्यंत ज्वाइन केले नसेल तर आमच्या अपडेट्स साठी आत्ताच क्लिक करा (ट्वीटर- @aatmnirbharkha1), (इंस्टाग्राम- @aatmnirbharkhabar2020), (यू ट्यूब-@aatmnirbhar khabar )(फेसबुक- @aatmnirbharkhabar2020).